File Photo
File Photo

गोंदिया. जिले में कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक 369 शालाएं है. इसमें से प्रथम सप्ताह में 321 शालाएं शुरू हो गई है. इन शालाओं में 3 हजार 351 शिक्षकों की संख्या है. इसमें से 3 हजार 16 शिक्षकों ने कोरोना टेस्ट कराया है. जिसमें 193 शिक्षक कोरोना पॉजिटिव पाए गए है. शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की संख्या 1 हजार 237 है. इसमें 1 हजार 172 शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने कोरोना टेस्ट किया. वहीं 369 शालाओं में से 360 शालाओं को जंतुरहित किया गया है. थर्मल स्कैनर व अन्य स्वास्थ्य सुविधा 344 शालाओं में उपलब्ध कराई गई है.

कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं फैले इसके लिए 339 शालाओं की शाला समिति की सभा लेकर उस संबंध में नियोजन किया गया. अपने पाल्यों को शाला में भेजने के लिए 44 प्रश पालकों ने अनुमति दी है. शाला में उपस्थित हुए शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की संख्या 3,329 है.

प्रथम सप्ताह में गोंदिया जिले के 14 हजार 48 विद्यार्थियों ने हाजिरी लगाई है. इसमें 16 हजार 592 पालकों ने अपने पाल्यों को शाला में भेजने की अनुमति दी. जबकि प्रत्यक्ष में 14 हजार विद्यार्थी शाला में वापस लौटे हैं. जिले में शाला शुरू हो गई है. इसके बाद भी पालक अपने पाल्यों को शाला में भेजने तैयार नहीं है.

शाला व्यवस्थापन समिति की ओर से कोरोना को लेकर पर्याप्त ध्यान नहीं दिया जा रहा है. इसी तरह उप शिक्षाधिकारी प्रदीप समरीत ने बताया कि निर्धारित नियम व शर्तों के बाद शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को शाला में प्रवेश दिया जा रहा है. इसके बाद भी किसी विद्यार्थी का स्वास्थ्य ठीक नहीं होगा तो पालक उसे शाला नही भेजे.