corona

    • 4 तहसीलें कोरोना मुक्त 
    • जिले में अब क्रियाशील मरीजों की संख्या केवल 7  

    गोंदिया. मंगलवार 20 जुलाई को प्राप्त अहवाल में कोई नया कोरोना पॉजिटिव मरीज नही पाया गया. वहीं 3 पॉजिटिव मरीजों ने कोरोना पर मात की है. मंगलवार को कोरोना से पीड़ित एक भी व्यक्ति की मृत्यु नही हुई है.

    जिले में कोरोना से अब तक कुल 575 मरीजों ने जान गंवाई है. शासकीय मेडिकल कॉलेज की प्रयोगशाला से अब तक कुल 41,174 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए वहीं 40,466 मरीजों ने कोरोना पर मात की है. जिले में कोरोना क्रियाशील मरीजों की संख्या 7 है. जिसमें से 4 मरीजों का उपचार उन्हीं के घरों पर शुरू है.  जिले में कोरोना पीड़ितों के स्वस्थ होने का प्रश. 98.30 है, जबकि पीडित मरीजों का मृत्यु प्रश. 1.42 है. वहीं डब्लिंग रेट 524.7 दिन है.   

     कोरोना का दूसरा चरण समाप्ति की ओर है. जिससे जिले में कोरोना मरीजों की संख्या कम हो चली है. जिले में अब केवल 7 सक्रिय मरीज शेष हैं. जिले की गोरेगांव, देवरी, सड़क अर्जुनी व अर्जुनी मोरगांव यह चार तहसील कोरोना मुक्त हुई हैं. इसी तरह शेष बचे सक्रिय मरीजों में 5 मरीज बाहरी राज्यों के हैं. इस सब के बावजूद सतर्कता बरतना जरूरी है.

    उल्लेखनीय है कि कोरोना के दूसरे चरण ने जिले में भारी कहर ढा दिया था जिससे एक समय सक्रिय मरीजों की संख्या 41 हजार से अधिक पर पहुंच गई थी. लेकिन अब दूसरे चरण का प्रभाव कम होने लगा व जिले की परिस्थिति नियंत्रण में आ गई है. जिसकी वजह से हर दिन निकलने वाले प्रभावितों की संख्या उंगली पर गिनने लायक बची है.

    जिले में मंगलवार तक 7 सक्रिय मरीजों की संख्या दर्ज की गई है. जिससे अब राहतदायक स्थिति है. इसके अलावा मरीज संख्या नियंत्रण में होने से जिले की गोरेगांव, देवरी, सड़क अर्जुनी व अर्जुनी मोरगांव यह 4 तहसील कोरोना मुक्त हो गई है. वहीं गोंदिया तहसील में 1, तिरोड़ा 2, आमगांव 3 व सालेकसा तहसील में 1 सक्रिय मरीज शेष हैं. याने जिले में केवल 7 मरीज सक्रिय हैं. जिससे जल्द ही जिला कोरोना मुक्त होने की संभावना से इंकार नही किया जा सकता. 

    नियमों के पालन की जरूरत

    जिला प्रशासन के प्रयास व जिला वासियों के सहयोग से जिले की स्थिति नियंत्रण में आई है. जिससे जल्द ही जिला कोरोना मुक्त होगा. इसमें कोई संदेह नही है. इसके बाद भी तीसरे चरण में अधिक खतरा बताया जा रहा है. जिससे नागरिकों को बिना उतावलेपन के जिले को तीसरे चरण में सुरक्षित रखने के लिए नियमों का पालन करना जरूरी है. 

    तिरोड़ा में कोरोना की पुन: एंट्री

    जिले में जुलाई माह की शुरुआत से 15 दिन कोरोना मुक्त रहने के बाद तिरोड़ा तहसील में पुन: कोरोना ने एंट्री की है. जिससे तिरोड़ा तहसील में 2 सक्रिय मरीजों की संख्या है. इसी तरह की स्थिति जिले की कुछ तहसीलों में घटी है. कोरोना मुक्त होने वाली तहसीलों में अधिक सतर्कता बरतना जरूरी है.