100 teachers posted - 4 teachers relaxed
File Photo

  • गुटशिक्षाधिकारी पर कार्रवाई की मांग

गोंदिया. जिले की तिरोड़ा व सालेकसा में 948 शिक्षकों को 15 प्रश नक्सल भत्ते का लाभ दिया गया है. जिला नक्सलग्रस्त होने से जिले के 3,704 शिक्षकों को इस 15 प्रश नक्सल भत्ते का लाभ दें, अन्यथा 2 तहसीलों में नक्सल भत्ते का वितरण करने वाले गुट शिक्षाधिकारी को निलंबित करें. इस आशय का पत्र जिप के पूर्व विपक्षी नेता गंगाधर परशुरामकर ने 21 जुलाई को जिप के सीईओ को दिया, किंतु कार्रवाई नहीं की गई है. नक्सल भत्ते का तिरोड़ा तहसील में 567 व सालेकसा तहसील में 381 शिक्षकों को लाभ दिया गया है.

जिप की बिना अनुमति से 7 करोड़ 58 लाख 11 हजार 330 रुपये शिक्षकों को वितरित कर दिए गए हैं. इस प्रकरण की बाद में जांच की गई. जांच समिति ने शिक्षकों को वितरित की गई राशि वसूल करने की रिपोर्ट दी है. इतना ही नहीं जिसने राशि वितरित की है. उस गुटशिक्षाधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने का प्रावधान समिति ने नहीं किया.

सीईओ को सौंपा पत्र
परशुरामकर ने पुन: जिप सीईओ को पत्र देकर प्रकरण में तत्काल कार्रवाई करने की मांग की थी, किंतु कोई कार्रवाई नहीं होते देख जिप के माध्यम से कथित गुट शिक्षाधिकारी को बचाने का प्रयास किया जा रहा है, ऐसा आरोप भी लगाया गया है. इस संबंध में जिप के प्रभारी सीईओ राजेश खवले ने बताया कि नक्सल भत्ता वितरण प्रकरण में जांच समिति का अहवाल प्राप्त होने के बाद आगे की कार्रवाई करने के लिए जिप ने शासन से मार्गदर्शन मंगाया है,  उचित दिशा निर्देश प्राप्त होते ही संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.