File Photo
File Photo

    गोंदिया. जिले में सालेकसा थाने के तहत दर्रेकसा के जंगल में लूटपाट की घटना को अंजाम देकर 1 लाख 87 हजार 700 रु. के आभुषण व नगद लूटकर फरार होने वाले 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस निरीक्षक प्रमोद बघेले ने इन आरोपियों को आमगांव न्यायालय में पेश किया. जहां उन्हें 10 जुलाई तक पुलिस हिरासत दी गई थी.

    पुलिस हिरासत अवधि समाप्त होने पर पुन: न्यायालय में पेश किया गया जहां उन्हें 24 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भंडारा जेल भेज दिया गया. पुलिस ने लूटा गया पूर्ण माल व घटना के लिए प्रयुक्त की गई एक पल्सर मोटर साइकिल आरोपियों के पास से जब्त की है. जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ राज्य के रायपुर, खुशालपुर निवासी व्यंकट सदाशिवराव ढोमने, छन्नुलाल रोकडे, मालन कारेमोरे व चालक मानेश्वर निनावे मारुति कार क्र. सीजी 04 एचए 1623 से 6 जुलाई की शाम 7 बजे के लगभग सालेकसा की ओर आ रहे थे.

    तभी दर्रेकसा जंगल परिसर में 4 आरोपियों ने व्यंकट ढोमने का वाहन बीच सडक पर रोक दिया व स्वयं को नक्सलवादी बताकर उसकी पिटाई कर दी. इस बीच आरोपी उनके पास से नगद व आभूषण लेकर फरार हो गए.

    घटना की सूचना जिला पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे को मिलते ही उन्होंने जिला अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक बबन आव्हाड व सालेकसा के थानेदार बघेले व टीम को तत्काल आरोपियों को गिरफ्तार करने के आदेश दिए. पुलिस ने एक एक कर घटना को अंजाम देने वाले वाले चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

    इन आरोपियों में गोरेगांव तहसील अंतर्गत चोपा निवासी नानेश्वर मधुकर निनावे गांधीटोला निवासी कैलाश गुणीलाल वाढई  (38), चोपा निवासी दिनेश शिवराम शेंडे (31) व संजय पुरुषोत्तम फुंडे (31) का समावेश है. जांच सालेकसा के थानेदार प्रमोद बघेले कर रहे हैं.