Complaints

    गोंदिया. जिप के कामकाज से नाराज लोगों ने आपकी सरकार पोर्टल पर जिप की शिकायतें की हैं. एक वर्ष में जिप के 16 विभागों की 420 शिकायतें पोर्टल पर दर्ज की गई हैं. इसमें सबसे अधिक ग्रापं विभाग व सबसे कम शिकायत पशु संवर्द्धन विभाग की हैं.

    ग्रापं विभाग की 102 शिकायतों में से 75 शिकायतों का निवारण कर दिया गया है. वहीं 27 शिकायतें लंबित हैं. वित्त विभाग की 12 शिकायतें थी. इसमें 11 शिकायतों का निवारण किया गया व एक शिकायत लंबित है. प्राथमिक शिक्षा विभाग की 48 शिकायतें थी. जिसमें से सभी शिकायतों का हल निकाला गया है. माध्यमिक शिक्षा विभाग 39 शिकायतें थी. इसमें 29 शिकायतों का निपटारा किया गया. इसी तरह 10 शिकायतें प्रलंबित हैं. महिला व बाल कल्याण विभाग की 11 शिकायत थी व उसमें 10 शिकायतों का निवारण किया गया. केवल एक शिकायत विचाराधीन है.

    स्वास्थ्य विभाग की 18 शिकायतों का निवारण

    स्वास्थ्य विभाग की 23 शिकायतें थी जिसमें से 18 शिकायतों का निवारण किया गया. वहीं 5 शिकायतें प्रलंबित हैं. जिला ग्रामीण विकास विभाग की 24 शिकायत थी. जिसमें 18 शिकायतें निपटा दी गईं, जबकि 6 प्रलंबित हैं. ग्रामीण जलापूर्ति विभाग की 23 शिकायतों को हल कर दिया गया. बांधकाम विभाग की 56 शिकायतें थी जिसमें 53 शिकायतों का निवारण किया गया है. 3 शिकायत पर विचार शुरू है. लघु सिंचाई विभाग की 7 शिकायतें थी. इन सभी शिकायतों को सुलझा दिया गया.

    पशु संवर्द्धन विभाग की 3 शिकायतों का समाधान कर दिया गया है. कृषि विभाग की 10 शिकायतों में से 8 का निर्णय हो गया, जबकि 2 शिकायतें लंबित हैं. समाज कल्याण विभाग की 10 शिकायतें थी. उन सभी का निवारण हो गया है. नरेगा की 21 में से 20 शिकायतों का निपटारा कर दिया गया है. एक शिकायत प्रलंबित है. इसी तरह जिले भर के नाबालिग विद्यार्थियों की समस्या का समाधान मैत्री के माध्यम से किया जाता है. सन 2020 में 1654 विद्यार्थियों ने विभिन्न शिकायतें की थी. इस पर उनका स्वास्थ्य विभाग ने समुपदेशन किया है.