Government Office
File Photo

गोंदिया. विभाग प्रमुख को जानकारी व आवेदन दिए बिना अवकाश पर जाने वाले 7 कर्मियों को नप मुख्याधिकारी ने पूर्व सूचना के अनुसार झटका देकर उनके खिलाफ कार्रवाई की है. इन कर्मियों की अवकाश के दिन भी बिना वेतन अवकाश लगाया गया है. मुख्याधिकारी करण चव्हान की कार्रवाई से नप कार्यालय में हड़कंप मच गया है.

उल्लेखनीय है कि नप के विभिन्न विभागों में कार्यरत कर्मी अपनी मर्जी से आना जाना करते हैं. उन्हें शासकीय नियम से कोई लेना देना नहीं है. जबकि सामान्य नागरिक काम के लिए कार्यालय में पहुंचते हैं. इस समय संबंधित कर्मी अपनी जगह पर नहीं मिलते हैं. उन्हें मायुस होकर खाली हाथ लौटना पड़ता है. इसी तरह की कार्यशैली का मुख्याधिकारी चव्हान ने प्रत्यक्ष में अनुभव किया है.

उन्होंने बीच में अपनी मर्जी से कार्य करने वाले कर्मियों के लिए पत्र जारी किया था जिससे उन्हें छुट्टी के लिए विभाग प्रमुख या अन्य अधिकारी को आवेदन देना बंधनकारक किया था. इतना ही नही जो कर्मी बिना बताए छुट्टी मारेगा, उसकी छुट्टी के दौरान बिना वेतन अवकाश लगाया जाएगा. ऐसा स्पष्ट आदेश जारी किया था. लेकिन इसके बाद भी कुछ कर्मियों ने मुख्याधिकारी के आदेश को गंभीरता से नहीं लिया है. इसी में नप कार्यालय के 7 कर्मियों ने बिना किसी को जानकारी दिए छुट्टी मार ली जिससे इन कर्मियों का बिना वेतन अवकाश लगाया गया.