Contaminated water supply in 37 villages, health of villagers in danger

देवरी. राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 6 पर डामरीकरण के कार्य शुरु हैं. नैनपुर ग्रापं भर्रेगांव में कुएं के पास अशोका बिल्डकॉन कम्पनी ने डामर भरे ड्रम रखे हैं, लेकिन धूप से संपूर्ण डामर पिघलकर कुएं के पानी में जा रहा है. परिणाम स्वरुप पानी दूषित हो गया है. नागरिकों के स्वास्थ्य पर खतरा मंढरा रहा है. नागरिकों को शुद्ध व सुरक्षित पानी पूर्ति करने पानी की गुणवत्ता अच्छी होना आवश्यक है.

कंपनी की लापरवाही से रोष
उल्लेखनीय है कि नैनपुर ग्राम में एक ब्रिटिश कालीन कुआं है. इसके पानी का उपयोग लोग पीने के लिए करते हैं, लेकिन अशोका बिल्डकॉन कंपनी की लापरवाही से डामरयुक्त गिट्टी, डामर के ड्रम व अन्य सामग्री कुएं के पास रखी है. जिससे डामर पिघल कर कुए में पहुंच गया. इस ग्राम में इस कुएं के अलावा गांव में पीने के पानी का कोई दूसरा साधन नहीं है. जिससे ग्राम के लोग दूषित पानी पीने के लिए मजबूर है.