The man who has been in jail for 20 years for the theft of just two shirts was released, know the whole matter
File

    गोंदिया. रेमडेसिविर इंजेक्शन केटीएस जिला सामान्य अस्पताल से बाहर बिक्री के लिए ले जाने वाले प्रकरण में जिला अपराध शाखा ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया था. जिला अपर व सत्र न्यायालय ने आरोपी संजू बागड़े, दर्पण वानखेडे व नीतेश उर्फ करण चिचखेडे को पहले 23 अप्रैल तक पुलिस हिरासत दी थी. इसके बाद न्यायालय द्वारा उन्हें न्यायिक हिरासत में भंडारा जेल भेज दिया गया है.

    अस्पताल से चुराए थे इंजेक्शन

    उल्लेखनीय है कि गोंदिया में आक्सीजन व रेमडेसिविर इंजेक्शन के अभाव में कोरोना मरीजों की मृत्यु हो गई. मरीजों की जान बचाने के लिए उक्त इंजेक्शन की काले बाजार में बिक्री कर बड़े पैसे कमाने के चक्कर में पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इन आरोपियों के माध्यम से 1 इंजेक्शन के 15 हजार रु. अनुसार 2 इंजेक्शन की 30 हजार रु. में बिक्री की जा रही थी.

    इन आरोपियों ने बताया कि उन्होंने गोंदिया जिला सामान्य अस्पताल से यह इंजेक्शन लाया है. शहर पुलिस ने मामला दर्ज किया है. बताया जा रहा है कि चिचखेड़े यह केटीएस जिला सामान्य अस्पताल के ईसीजी टेक्निशियन पद पर कार्यरत है. उसने ही केटीएस से  2 रेमडेसिविर इंजेक्शन  गायब किए थे तथा उनकी बिक्री के  दो लोगों की मदद ली.  जांच थानेदार महेश बंसोड़े कर रहे हैं.