फुटपाथ पर चला बुलडोजर, सख्ती के साथ हटाया गया अतिक्रमण

गोंदिया. स्थानीय मनोहर चौक व जयस्तंभ चौक से नेहरु चौक तक मार्ग के दोनों ओर से फुटपाथ का अतिक्रमण प्रशासन ने सख्ती के साथ हटा दिया है. इस कार्रवाई को लेकर शहर में तरह तरह की चर्चाएं हो रही हैं. इसमें 2 जेसीबी मशीन व 6 ट्रैक्टरों को लगाया गया था. अतिक्रमण हटाने की   शुरुआत जयस्तंभ चौक परिसर के की गई.

इस समय पानठेले, फु्रट विक्रेता, चप्पल जूते की दुकान वालों को वहां से हटा दिया गया. जयस्तंभ चौक बस स्टॉप के पास अतिक्रमण कर बनाई गई एक चप्पल जूते की दुकान को जेसीबी मशीन से तोड़ दिया गया है. वहीं बस स्टॉप के पूर्व छोर पर लगे अनिल मडामे की चाय दुकान, चौधरी के फु्रट का ठेला, भरत हरिणखेडे की चाय दुकान को हटाया गया. इसके बाद अतिक्रमण दस्ते के अधिकारी व कर्मचारी मनोहर चौक परिसर पहुंचे. जहां किशोर गुप्ता को दुकान के सामने लगे शेड़ हटाने के लिए कहा गया. अतिक्रमण की कार्रवाई दिनभर चलती रही. पंचायत समिति 

कार्यालय व शासकीय मेडिकल कॉलेज के सामने बनी सभी दुकानों को जेसीबी मशीन से हटाया गया. नेहरु चौक पर फुटपाथ की सभी दुकानों को हटाया गया. बड़े उड़ान पुल के निचे दुकान लगाकर व्यवसाय करने वालों की भी अतिक्रमण हटाओ दस्ते ने कार्रवाई कर उन्हें वहां से हटा दिया है. इस दौरान मार्ग को जेसीबी मशीन से समतल किया गया. कार्रवाई के दौरान अनेक दुकानदार अपने ठेलों को माल वाहक पर लादकर लेकर गए. शहर के मध्य क्षेत्र में फुटपाथ पर व्यवसाय करने वाले 100 से अधिक लोगों को अतिक्रमण दस्ते ने हटा दिया है. इस कार्रवाई के बाद शहर का ह्दयस्थल परिसर एकदम खुला दिखाई दे रहा है.

कार्रवाई के दौरान नप मुख्याधिकारी करण चव्हान, उप विभागीय पुलिस अधिकारी जगदीश पांडे, तहसीलदार राजेश भांडारकर व अपर तहसीलदार खडतकर, थानेदार बबन आव्हाड उपस्थित थे तथा  शहर थाने के सहायक पुलिस निरीक्षक अभिजीत भुजबल व पुलिस उप निरीक्षक मोरे सहित 20 पुलिस कर्मियों की ड्युटी लगाई गई. इस कार्रवाई में नप के बांधकाम विभाग, विद्युत विभाग, टाउन प्लानिंग, महावितरण, सार्वजनिक बांधकाम विभाग व पुलिस विभाग की मदद ली गई. इस कार्रवाई को लेकर अनेक व्यवसायियों ने नाराजगी व्यक्त की है. वहीं कुछ लोगों ने अतिक्रमण कार्रवाई को जायज बताया.