ration shop
File Photo

  • पोर्टबिलिटी का 275 लोगों ने उठाया लाभ

गोंदिया. जिले में अंत्योदय, प्राथमिकता व केशरी इस तरह कुल 2 लाख 34 हजार 530 अलग-अलग राशन कार्ड धारक है. जिला अंतर्गत तबादला या सस्ते राशन दूकानदार द्वारा अनाज देने में कोताही बरतने वालों से त्रस्त हुए राशन कार्ड धारकों को पोर्टबिलिटी अंतर्गत दूसरे राशन दूकान से राशन कार्ड को जोड़कर अनाज सुविधा का लाभ उठाया जा सकता है. इस योजना अंतर्गत 275 ग्राहकों ने अब तक इसका लाभ उठाया है.

जिले में सरकारी राशन दूकानदारों की संख्या 1,630 है. इन दूकानदारों के माध्यम से 2 लाख 34 हजार 530 राशन कार्ड धारकों को अनाज का वितरण किया जाता है. ग्रामीण क्षेत्र में राशन दूकानदार अनेक बार राशन कार्ड धारकों को तरजीह नही देते है. इसी तरह नियमोंनुसार अनाज भी नही देते है. जिससे राशन कार्ड धारक व दूकानदारों के बीच अकसर विवाद की स्थिति बन जाती है. जिससे अनेक राशन कार्ड धारक आवेदन कर दूसरे  राशन दूकान में अपना कार्ड जोड़कर उस दूकान से अनाज लेने का प्रयास करते है. 

शिकायतों की भरमार

नियमोंनुसार राशन कार्ड के युनिट के अनुसार अनाज नही देना, सस्ते व सरकारी अनाज के अधिक पैसे लेना, राशन कार्डधारकों के लिए आया अनाज का नियमोंनुसार वितरण नही करना, अनाज की कालाबाजारी करने जैसी अनेक शिकायतें राशन दूकानदारों के खिलाफ जिला खाद्य आपूर्ति विभाग के पास आई है. 

23 दूकानदारों पर कार्रवाई

जिले में राशन दूकानदारों के खिलाफ अनेक शिकायतें है. इसमें सरकारी अनाज की खुले बाजार में बिक्री करना, राशन कार्डधारकों को नियमित अनाज का वितरण नही करना, अतिरिक्त दाम पर अनाज की बिक्री करने के मामलों को लेकर जिला खाद्यान्न आपूर्ति अधिकारी ने अबतक जिले के 23 राशन दूकानदारों के लाइसेंस निलंबित किये है. इसी तरह 15 राशन दूकानदारों की शिकायतों की जांच शुरू है. इस संबंध में जिला खाद्यान्न आपूर्ति अधिकारी के अनुसार राशन कार्ड धारक तथा नागरिकों से सरकारी राशन दूकानदारों के संदर्भ में प्राप्त हुई शिकायतों के आधार पर जांच की गई. इस जांच में दोषी पाए गए 23 राशन दूकानों के लाइसेंस रद्द किए गए है. इसी तरह शेष मामलों की जांच जारी है.