Order: Prohibition on Marriages

परतवाड़ा. दिल्ली से अचलबपुर लौटे युवक का विवाह 25 जून को होना तय था. लेकिन अन्य राज्य से आए इस युवक को क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया. दोनो पक्ष के आग्रह पर यह विवाह कल्याण मंडप के क्वारंटाइन सेंटर में तय तिथि पर आयोजित था. विवाह संबंधि तैयारी गुरुवार को पूरी हो गई. लेकिन इसी बीच एसडीओ अश्विनी वाघमले ने जब लड़की का आधार कार्ड व अन्य दस्तावेज जांचे तो वह नाबालिग पाई गई, जिसके बाद यह विवाह रोक दिया गया.

प्रशासन की तैयारी पर फिरा पानी
दिल्ली से आए इस युवक को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किया गया. जब इस बीच पहले से तय उसका विवाह क्वारंटाइन सेंटर में ही करने की अनुमति प्रशासन ने दी. इसकी तैयारी भी पूरी की गई. 25 जून को होने वाले विवाह में एसडीओ संदिप कुमार अपार वर व मुख्याधिकारी अश्विनी वाघमले वधू पक्ष सम्हालने वाले थे. वधू पक्ष की ओर से सारी तैयारी एसडीओ ने अपने खर्च पर की, जबकि वधू के लिए उपहार व आवश्यक सामग्री की व्यवसाथ सीओ ने की. दुल्हा लखन तातोड (27, तलेगांव मोहना) का था जो दिल्ली की एक कंपनी में वाहन मैकेनिक का काम करता है. इस बीच गुरुवार को सीओ ने वर वधू दोनों के दस्तावेज जांचे तो वधू नाबालिग होने की बात पता चली, जिसके बाद विवाह रद्द किया गया.