Gondia Collector Meena

गोंदिया. कोरोना का बढ़ता संक्रमण व मृत्यु की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखकर जिले के नागरिकों को अधिक सतर्कता बरतने की आवश्यकता है. कोरोना संक्रमण के लक्षण दिखते ही तत्काल जांच करे व संभावित खतरे से स्वयं को दूर रखे. ऐसा आवाहन जिलाधीश दीपककुमार मीना ने जिलाधीश कार्यालय के जिला नियोजन समिति सभागृह में आयोजित सभा में किया. इस अवसर पर विधायक विनोद अग्रवाल, पूर्व विधायक राजेंद्र जैन उपस्थित थे.

मीना ने कहा कि कोरोना यह संक्रमण बीमारी है. बुखार, खांसी जैसे लक्षण दिखाई देने पर तत्काल जांच करा ले, जांच के लिए विलंब न करे, कोरोना से घबराने की जरुरत नही है, बीमारी को छुपाकर मत रखो, बुखार शरीर पर मत निकालो, जांच के लिए आगे आए, ऐसा उन्होंने बताया.

जिले में कोरोना का प्रभाव बढ़ रहा है. इसे नियंत्रित करने के लिए प्रशासन विभिन्न प्रतिबंधात्मक उपाया योजना कर रहा है. लेकिन कोरोना के लक्षण होने पर भी नागरिक जांच के लिए आगे आने से टालमटौल कर रहे है, यह बात स्वास्थ्य के लिए उचित नही. जांच के लिए विलंब करने पर बीमारी बढ़ती है.

विशेषकर 50 से उपर आयु वाले व्यक्ति के लिए खतरा अधिक होता है. जिले में कोरोना नियंत्रित रखने के लिए मृत्यु संख्या कम करने पर प्रशासन का जोर है. इसके लिए नागरिकों का सहयोग आवश्यक है. इस दौरान विधायक अग्रवाल व पूर्व विधायक जैन ने भी मार्गदर्शन किया. हर एक नागरिक प्रशासन की सुचना का अक्षरश: पालन करे, अन्यथा उनके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने कोविड केअर सेंटर में वाट्स एप हेल्प लाइन व लैंडलाइन नंबर देकर प्रभावित मरीजों को सुविधा उपलब्ध करा देने की भी बात कही. जिले की सभी यंत्रणा जिम्मेदारी से कार्य करे, स्वास्थ्य विभाग आपस में समन्वय रखे, जिससे प्रभावित मरीजों को परेशानी नही होगी ऐसा भी मीना ने कहा.

सभा में निवासी उप जिलाधीश सुभाष चौधरी, शासकीय मेडिकल कॉलेज के डिन डा.विनायक रुखमोडे, जिला शल्य चिकित्सक डा.भुषणकुमार रामटेके, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा.श्याम निमगडे, डा.नितीन कापसे, डा.वेदप्रकाश चौरागडे, नप मुख्याधिकारी करण चव्हान, तहसीलदार राजेश भांडारकर, अपर तहसीलदार अनिल खडतकर, जिला विज्ञान व सुचना अधिकारी पंकज गजभिये उपस्थित थे.