summer season

    गोंदिया. सूर्य का तेवर सुबह 9 बजे से ही बढ़ने लगता है जो शाम 4 बजे कुछ कम होते जाता है. बढ़ती गर्मी व बढ़ते कोरोना के कारण लोग अब घरों से जरूरी काम से ही पूरी सुरक्षा के साथ निकल रहे हैं. दोपहर के समय अधिकांश क्षेत्रों की सड़कें वीरान नजर आ रही है. लेकिन शहर के कूलर व एसी बेचने वाले व्यवसायी ग्राहकों का इंतजार कर रहे हैं. गर्मी का पारा इतना चढ़ चुका है की लोग दुपट्टा, गॉगल, रुमाल व छाते का सहारा लेकर धूप से बच रहे हैं.

    शीतपेय की दूकानें सजी

    कई जगहों पर शीतपेय की दूकान भी सज गई है. जहां पर लोग अपनी गर्मी व प्यास बुझाते भी नजर आने लगे हैं. स्टेडियम व रेलवे स्टेशन परिसर में गन्ने के रस की दूकानों में लोगों की भीड़ नजर आ रही है. वहीं लोगों ने अपने घरों के कूलर निकाल लिए हैं. लेकिन कूलर सुधारने वाले लोगों के घरों में कोरोना के कारण जाने से कतरा रहे हैं. वहीं खस टाटियों की भी मांग बढ़ने लगी है.

    कुछ वर्ष पूर्व अधिकांश चौराहों पर पानी प्याऊ लगाया जाता था लेकिन वे भी बदलते समय के साथ बंद होने लग गए हैं. धूप से बचाव के लिए पेट्रोल पंप परिसर में कई युवा अपना परिवार पालने के लिए चिलचिलाती धूप व कोरोना को दूर कर गॉगल्स बेचते नजर आ रहे हैं. कई क्षेत्रों में होली व कोरोना संक्रमण को दरकिनार कर लोग होली का सामान लेते देखे गए. वहीं पोल्ट्री फार्मो में भी मुर्गी लेने वालों का तांता लगा रहा.