Curfew in Gondia

गोंदिया. शहर में कोरोना के बढ़ते प्रसार को रोकने के उद्देश्य से व्यापारियों के विभिन्न संगठनों ने एकजुट होकर एक सप्ताह तक बंद करने का निर्णय लिया है. दूसरे दिन 14 सितंबर को शहर का मुख्य मार्केट, मेन रोड, चांदनी चौक मार्ग, नगर परिषद परिसर, शहर थाना क्षेत्र में अधिकांश दूकानें बंद रही. वहीं कुछ व्यापारियों ने दूकानें खोल रखी थी. जिससे लगता है, उन्हें कोरोना का कोई भय नहीं है. बंद के पहले दिन रविवार होने से शहर में कामकाज की वजह से आने वाले लोगों की संख्या काफी कम रही.

सड़कों पर शुरू रहा यातायात
सोमवार को सप्ताह के प्रथम दिन सभी शासकीय कार्यालय, राष्ट्रीयकृत बैंक व विभिन्न कार्यालय के दफ्तर शुरू होने से बड़ी संख्या में आवागमन बढ़ गया है. शहर के मुख्य क्षेत्र में व्यापारियों के महत्वपूर्ण व बड़ी दूकानें बंद रहने से बाजार क्षेत्र में खरीददारी करने वालों की भीड़ अवश्य कम हो गई हैं. आम नागरिकों के बीच दूरी स्वयं ही कम हो जाएगी.

डा.देवाशीष चटर्जी व व्यापारी संगठनों के प्रतिनिधियों का उद्देश्य सफल होते हुए दिखाई दे रहा है. बशर्ते इस प्रक्रिया का पालन किसी तरह सप्ताह भर के लिए हो जाए. इसके अच्छे नतीजे भी लोगों के जल्द देखने के लिए मिल जाएंगे.

जीवनावश्यक वस्तुओं की दूकानें रही खुली
इस बंद का मुख्य असर शहरी मध्यक्षेत्र में जबरदस्त है. जबकि सब्जी भाजी, किराना सहित अन्य जीवनावश्यक वस्तुओं की दूकानें शुरू है. उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी घातक स्तर पर पहुंच गई हैं. इसका सबसे अधिक असर जिला मुख्यालय में हैं. शहर के हर एक क्षेत्र में कोरोना पाजिटिव मरीज मिले हैं. इस बीमारी को अब गंभीरता से लेने की जरूरत है.