Covid Vaccination Updates : first vaccination campaign started in Haiti after the start of the Corona epidemic

    गोंदिया, ब्यूरो. जिले में अब तक 4 लाख 84 हजार 198 नागरिकों का टीकाकरण किया गया है. इसमें पहला व दूसरा डोज लेनेवालों का सामवेश है, लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि इसमें पहला डोज लेने वालों की संख्या जहां 3,87,313 है, वहीं दूसरा डोज लेनेवालों की संख्या का आंकड़ा 96,885 है. यानी जिले में दूसरा टीका लेने वालों की संख्या 1 लाख के अंदर ही है.

    इतना ही नहीं, दूसरा डोज लेने का समय आ गया है. फिर भी अनेक लोगों का उस ओर ध्यान नहीं है. जबकि दोनों डोज लेने पर ही उसका लाभ होने से नागरिकों को अपना दूसरा डोज लेने की जरूरत है. कोरोना के दूसरे चरण ने कहर ढाहकर अनेक लोगों को लील किया है. इसी में अब तीसरे चरण का अनुमान लगाया जा रहा है. इस तीसरे चरण को रोकने के लिए अब कोरोना का टीका हाथ में है. जिससे अधिकाधिक टीकाकरण होने पर तीसरें चरण के प्रभाव को टाला जा सकता है. इसके अलावा टीका के दोनों डोज लेने पर व्यक्ति सुरक्षित रह सकता है. ऐसा अध्ययनकर्ताओं ने स्पष्ट किया है. जिससे दोनों डोज लेना आवश्यक है. 

    वृहदस्तर पर टीकाकरण अभियान शुरू

    जिले में बड़े पैमान पर टीकाकरण का अभियान शुरू है. जिसमें तब तक 4,84,198 नागरिकों का टीकाकरण हो गया है लेकिन मजेदार बात यह है कि इसमें केवल 96,885 ने ही दूसरा डोज लिया है. वहीं अधिकांश नागरिक दूसरे डोज का समय पूरा होने के बाद भी ध्यान नहीं दे रहे हैं. उल्लेखनीय है कि टीके के दोनों डोज लेने के बाद शरीर में एंटीबॉडीज तैयार होते हैं. जिससे कोरोना से संघर्ष करने के लिए अब नागरिकों को अपना दूसरा डोज लेना बेहद जरूरी है. 

    आधे से अधिक फर्क 

    जिले में पहला व दूसरा डोज लेने वालों के फर्क को देखने पर दोनों गटों में आधे से अधिक नागरिकों ने दूसरा डोज नहीं लिया है. इसमें 18-44 आयु वर्ग वालों के टीकाकरण 22 जून से शुरू की गई है. जिससे अब दूसरा डोज लेने का समय आ गया है. इसी तरह 45-60 आयु वर्ग के 1 लाख 60 हजार 38 नागरिकों ने पहला व केवल 40 हजार 526 नागरिकों ने दूसरा डोज लिया है. इसी श्रृंखला में 60 प्लस आयु वर्ग वालों में 88 हजार 971 नागरिकों ने पहला व केवल 29 हजार 487 नागरिकों ने दूसरा डोज लिया है. 

    18-44 गट को ब्रेक लगने की संभावना 

    जिले में 18-44 गट के युवाओं ने टीकाकरण करने के लिए भारी भीड़ से डोज की कमी हो गई है, जिससे दूसरा डोज लेने वालों के लिए समस्या निर्माण हो गई है. इस बात को ध्यान में रखकर नागपुर में 18-44 गट वालों को ब्रेक लगाकर दूसरा डोज के लिए प्राथमिकता दी जा रही है. इसी तरह का प्रयोग जिले में भी क्रियान्वित किए जाने की संभावना है.