Corona Positive
PTI Photo

गोंदिया. जिले में कोरोना का संक्रमण बड़ी तेजी के साथ बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है. शासकीय मेडिकल कॉलेज की प्रयोगशाला से 11 सितंबर को प्राप्त रिपोर्ट में 229 कोरोना पाजिटिव मरीज पाए गए है. मार्च से लेकर सितंबर तक सबसे बड़ी संख्या है. जिले में 4 कोरोना मरीजों की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई. मेडिकल कॉलेज में आमगांव निवासी एक 34 वर्षीय युवक की लिवर व पॅनक्रियाटायरिस की परेशानी थी जिससे उसकी मृत्यु हो गई. तिरोड़ा निवासी एक 46 वर्षीय युवक की मृत्यु हो गई.

तुमसर भंडारा निवासी एक 59 व्यक्ति की निजी अस्पताल में मृत्यु हो गई. वहीं पुनाटोली निवासी व्यक्ति की भी उपचार के दौरान मृत्यु हो गई. 11 सितंबर को 229 कोरोना पीड़ितों में सबसे अधिक मरीज 163 गोंदिया तहसील अंतर्गत है. तिरोड़ा तहसील में 17, गोरेगांव तहसील में 9, आमगांव तहसील में 6, सालेकसा तहसील में 1, देवरी तहसील में 2, सडक़ अर्जुनी तहसील में 1, अर्जुनी मोरगांव तहसील में 15 व राज्य के बाहर वाले लालबर्रा 1, ब्रम्हपुरी 1, यवतमाल 1, सिवनी 1, नागपुर 3, जबलपुर 1, पुणे 1 व बालाघाट के 2 मरीजों का समावेश है.

2908 पर पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा
जिले में 93 मरीजों ने कोरोना पर मात की है. वहीं अब तक 1517 मरीजों को कोरोना से छुटकारा मिल गया है. जिले में 1,346 कोरोना क्रियाशील मरीज है. जिले में अब तक कुल 2908 मरीज कोरोना प्रभावित पाए गए है. कोरोना क्रियाशील मरीजों में से 401 मरीज अपने घरों पर स्वास्थ्य लाभ ले रहे है. जिले में 142 कंटेनमेंट जोन बनाए गए है.  

150 टीमें करेगी कोरोना का सर्वेक्षण
शहर व ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना का बढ़ता संक्रमण रोकने के लिए सूक्ष्म नियोजन किया गया है. शहर में बुखार, सर्दी व खांसी के साथ ही सांस लेने में परेशानी जैसे लक्षण पाए जाने वाले नागरिकों की तलाश करने के लिए जिलाधीश के आदेश से सर्वेक्षण किया जाएगा. उप विभागीय अधिकारी राठौड, तहसीलदार विजय बोरुडे, तहसील स्वास्थ्य अधिकारी कुकडे, गट विकास अधिकारी मोडक व नपं मुख्याधिकारी के नेतृत्व में पर्यवेक्षक के नियंत्रण में कुल 150 टीम तैयार की गई है. जिसमें नपं के शिक्षक, विभिन्न विभागों के लिपिक, आशा सेविका व शिक्षक, पटवारी, ग्राम सेवक, कृषि सहायक का समावेश रहेगा. सभी कर्मियों के माध्यम से तहसील में कोरोना संदर्भ में सर्वेक्षण किया जाएगा. सर्वेक्षण अधिक प्रभावी होने नपं व ग्रापं की ओर से सर्वेक्षण करने वाले कर्मियों को थर्मल गन व व पल्स ऑक्सीमीटर उपलब्ध करवा दिया गया है. 

घर-घर जाकर देंगे भेट
सर्वेक्षण के लिए कर्मचारी प्रत्येक घरों में भेंट देंगे. टीम के सदस्यों को जानकारी देने का आह्वान उपविभागीय अधिकारी, तहसीलदार, तहसील स्वास्थ्य अधिकारी, गट विकास अधिकारी, मुख्याधिकारी ने किया है. घर में किसी को भी बुखार, सर्दी व खांसी जैसे लक्षण होंगे तो तत्काल सर्वे करने के लिए आए कर्मियों को जानकारी दें. कर्मी थर्मल गन व पल्स ऑक्सीमीटर से सर्वेक्षण करेंगे. थर्मल गन के माध्यम से तापमान पंजीयन व पल्स ऑक्सीमीटर के माध्यम से शरीर में ऑक्सीजन के प्रमाण की जांच की जाएगी. आईएसआई के नागरिकों द्वारा कोविड केअर सेंटर देवरी में जाकर जांच करने सहयोग करने का आह्वान प्रशासन की ओर से किया गया है.