COVID Care Center Gondia

  • कोविड केयर सेंटर में ताला
  • तेजी से बढ़ रहा संक्रमण

गोरेगांव. कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा हैं, ऐसे में क्षेत्र के स्वास्थ्य विभाग को जागृत रहने की आवश्यकता है, लेकिन गोरेगांव तहसील में स्वास्थ विभाग की लापरवाही दिखाई दे रही है हैं. यहां कोविड-१९ जांच किट उपलब्ध नहीं होने से शहर में स्थित एक मात्र कोविड केयर सेंटर ही २० दिनों से बंद पड़ा है. जिसमें टेस्टिंग होना भी बंद है. इस प्रकार की लापरवाही के चलते तहसील में महामारी फैलने का खतरा बढ़ गया है. नागरिकों को स्वयं सतर्कता बरतने की जरूरत है. किंतु इस बीच बैंकों के सामने लगी कतारें थमने का नाम नहीं ले रही हैं जो महामारी को आमंत्रण दे रही है.

सेंटर में जांच किट उपलब्ध नहीं

जानकारी के अनुसार गोरेगांव तहसील में अब तक कुल ५०१ कोरोना मरीज पाए गए. जिसमें 3४७ ग्रामीण परिसर तथा १५४ मरीज शहर से पाए गए हैं. इस बीच बीते १० दिनों में ४ कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाए गए हैं. राज्य में अचानक कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पूरे राज्य को अलर्ट किया है. जिससे विशेष तौर पर स्वास्थ विभाग की जिम्मेदारी भी बढ़ गई है. स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते तहसील के कोविड सेंटर में जांच किट उपलब्ध नहीं है. जिससे कोविड केयर सेंटर में ताला लगा दिया गया है. मरीजों की कोरोना जांच लगभग २० दिनों से बंद है. अचानक कोरोना के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी से नागरिक दहशत में आ गए हैं. वहीं टेस्टिंग बंद होने से खतरा और भी बढ़ गया है. जिसमें कोरोना के संदिग्ध की जांच के लिए यहां-वहां भटकना पड रहा  हैं.   

बगैर मास्क के घूम रहे लोग

मास्क, सोशल डिस्टेंस व किसी भी प्रकार की भीड़ टालने के निर्देश नागरिकों को दिए गए हैं. किंतु इसके विपरीत लोग बिना मास्क के बिंदास घूम रहे हैं तथा भीड़ बनाए बैंकों की कतारों में खड़े दिखाई दे रहे हैं.  

तहसील अधिकारी डा.अनंत चांदेकर के अनुसार प्रशासन ने कोविड-१९ जांच किट केयर सेंटर में उपलब्ध नहीं कराई है. ज़िले में टेस्टिंग किट का अभाव है. जिस कारण कोविड सेंटर बंद है,  किट उपलब्ध होते ही जांच शुरू की जाएगी, कोविड-१९ टेस्टिंग किट जल्द से जल्द उपलब्ध कराने मांग  प्रशासन से की है.