34 गांवों की जलापूर्ति पर संकट, बनगांव प्रादेशिक जलापूर्ति योजना पर 76 लाख बकाया

गोंदिया. जिप के माध्यम से चलाई जा रही बनगांव प्रादेशिक जलापूर्ति योजना का पानी लेने वाले 34 ग्रामों पर 76 लाख रुपये का पानी टैक्स बकाया है. नागरिकों की ओर से पैसे नहीं भरने पर जलापूर्ति योजना खंडित की जा सकती है. जून 2020 अंत तक 34 ग्रामों पर 75,92,000 रुपये का बकाया था.

आमगांव तहसील के बोरकन्हार ग्रापं पर 3,65,120 रुपये, बाम्हणी पर 3,12,250 रुपये, शिवनी पर 3,79,928, चिरचाड़बांध पर 4,72,920, खुर्शीपार पर 2,99,770, जवरी पर 3,29,940, मानेगांव पर 2,35,160, ठाणा पर 59,760 , बोथली पर 2,52,960 रुपये , सुपलीपार पर 1,56,180 रुपये, कालीमाटी पर 2,55,542, 2,55,542, किकरीपार पर 3,49,166, कातुर्ली पर 4,41,362, मोहगांव पर 1,05,320, बंजारीटोला पर 1,14,700, ननसरी पर 98,860, सरकारटोला पर 2,94,000, पानगांव पर 1,23,580, फुक्कीमेटा पर 1,53,832, धामनगांव पर 77,750, मुंडीपार पर 1,09,950, भोसा पर 35,290, घाटटेमनी पर 1,44,350 रुपये को मिलाकर कुल 51,75,300 रुपये है.

साकरीटोला ग्रापं पर 8 लाख शेष
सालेकसा तहसील के साकरीटोला पर 8,01,864, कारुटोला पर 1,54,790, सातगांव पर 56,370, हेटी पर 1,72,690 रुपये मिलाकर 11,85,794 तथा आमगांव नप के 7 ग्रामों में पदमपुर 86,515, रिसामा 13,37,000, बनगांव 6,83,838, बिरसी 2,45,236, किडंगीपार 23,900, कुंभारटोली 2,15,770, आमगांव 3,14,429 रुपये मिलाकर 75,92,070 रुपये का टैक्स बकाया है. ग्रापं पंचायत व आमगांव के तहसीलदार व नप प्रशासक डी. एस. भोयर की ओर से ध्यान देने की आवश्यकता है.