Corona Testing Delay

    गोंदिया. छावा संग्राम परिषद के जिलाध्यक्ष नीलम हलमारे ने जिले में कोरोना जांच के लिए हो रही आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट में हो रही देरी को लेकर जिलाधीश को ज्ञापन सौंपकर कहा है कि कोरोना जांच टेस्ट की रिपोर्ट मिलने में विलंब हो रहा है. सर्दी, खांसी, जुकाम जैसे लक्षण पाए जाने पर डाक्टर द्वारा उन्हें जांच कराने की सलाह दी जाती है और उसकी रिपोर्ट आने तक उन्हें अलगीकरण में रहने की सलाह भी दी जाती है. लेकिन रिपोर्ट आने में देरी होने से कोरोना संक्रमण का प्रसार होने लगा है.

    एक ही परिवार में रह रहे लोगों में से किसी एक में कोरोना के लक्षण पाए जाए और उसकी रिपोर्ट आने में देरी हो तो वह संक्रमण परिवार के अन्य सदस्यों में भी फैल रहा है. यही वजह है कि पिछले कुछ दिनों से जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढऩे लगी है. यह भी देखा गया है कि परिवार का एक सदस्य गंभीर अवस्था में ऑक्सीजन पर अस्पताल में भर्ती है तब भी उसके परिवार की जांच रिपोर्ट 8 दिनों तक नहीं आ रही है.

    15 दिन भी नहीं आई रिपोर्ट

    कुछ मामलों  में 15 से 20 दिन बीत जाने पर भी नहीं आई है. जिला प्रशासन द्वारा इस दिशा में ध्यान दिया जाना चाहिए.  नीलम हलमारे ने बताया कि स्वयं उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट भी 9 दिनों तक उन्हें नहीं मिली थी पश्चात जिला स्वास्थ्य अधिकारी से शिकायत करने के पश्चात आनन फानन में 10 वें दिन उन्हें उनकी रिपोर्ट दी गई.