Collector Meena

गोंदिया. जिलाधीश कार्यालय में कोरोना को लेकर आयोजित सभा में जिलाधीश दीपककुमार मीना ने बताया कि जिला कोरोना के मुकाबले पुरी तरह सुसज्ज है, कुछ दिनों से कोरोना जांच की रिपोर्ट पेंडिंग चल रही थी जो अब नहीं रहेगी, निजी अस्पतालों में कोरोना उपचार का शुल्क निर्धारित है व उसका सूचना फलक लगाने के निर्देश दिए गए है, रेमडेसीवर इंजेक्शन के विषय में उन्होंने कहा कि सांसद प्रफुल पटेल के माध्यम से प्रशासन को यह प्राप्त हुए हैं, उसका और भी आर्डर दिया गया है.

गोंदिया मेडिकल कॉलेज के डीन डा. नरेश तिरपुडे ने बताया कि गर्भवती महिलाओं को अब नागपुर जाने की आवश्यकता नहीं रहेगी उनका पुरा उपचार जिले में ही होगा, वहीं सीटी स्कॅन मशीन भी प्रारंभ हो गई है. वैसे सभी कोरोना मरीजों को सीटी स्कॅन की आवश्यकता नहीं होती है.

सभा में जिप मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रदीप डांगे, अपर जिलाधीश राजेश खवले, निवासी उप जिलाधीश सुभाष चौधरी, उप जिलाधीश भू संपादन राहुल खांदेभराड, वैद्यकीय अधीक्षक व मुख्य अनवेक्षक डा. दिलीप गेडाम, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. श्याम निमगडे, नप मुख्याधिकारी करण चौहान, शिक्षणाधिकारी राजकुमार हिवारे आदि ने भी विचार व्यक्त किए.