Gondia Railway Station

  • जिला प्रशासन ने उठाए ठोस कदम

गोंदिया. दिवाली के बाद कुछ राज्यों में पुन: कोरोना का संक्रमण बढ़ने लगा है. इसे रोकने प्रशासन सतर्कता बरत रहा है. रेलवे स्टेशन, विमानतल, बस स्टैंड पर दिल्ली, गुजरात, राजस्थान, गोवा से आने वाले यात्रियों को 96 घंटे पूर्व कोरोना जांच करने का प्रस्ताव प्रस्तुत करना अनिवार्य किया गया है. इसे जिले में क्रियान्वित करने के आदेश जिलाधीश दीपककुमार मीना ने जारी किए है.

जिलाधीश ने जारी किये आदेश

गोंदिया रेलवे स्टेशन हावड़ा-मुंबई मार्ग पर मुख्य रेलवे स्टेशन है, यहां से दिल्ली, गुजरात, राजस्थान की ओर जाने वाली ट्रेनें चलती हैं. उक्त राज्यों में कोरोना का संक्रमण व्यापक पैमाने पर फैलता जा रहा है. जिसके कारण आने वाले यात्री और स्थानीय नागरिकों से पुन: कोरोना फैलने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता. इसे लेकर जिला प्रशासन ने  सतर्कता के तौर पर कड़े कदम उठाए हैं. जिलाधीश मीना ने इस संदर्भ में आदेश जारी कर  संबंधित राज्यों से आने वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशन पर 96 घंटे के पूर्व कोरोना की टेस्ट करने की रिपोर्ट प्रस्तुत करना अनिवार्य है. 

यात्रियों की होगी एंटीजन टेस्ट

कोरोना के लक्षण नहीं दिखाई देने वालों को अनुमति देने के निर्देश दिए गए हैं. रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की एंटिजन टेस्ट करने की सुविधा उपलब्ध करा दी गई है. इस संबंध में रेलवे स्टेशन को भी पत्र दिया गया है. नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ प्रतिबंधक कानून व आपत्ति व्यवस्थापन कानून अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी. कोरोना के चलते गोंदिया रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग, सैनिटाइजेशन व फिजिकल डिस्टेसिंग का पालन किया जाता है, किंत अब रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की चहल-पहल बढ़ गई है, उसमें सतर्कता का अभाव दिखाई दे रहा है. कोरोना निर्देशों की जबर्दस्त अनदेखी हो रही है.