प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

    गोंदिया. कोरोना मुक्त क्षेत्र में स्थानीय स्वराज्य संस्थाओं की सहमति से 8वीं से 12वीं की कक्षाएं प्रत्यक्ष में शुरू करने का निर्णय सोमवार को शिक्षण विभाग द्वारा लिया गया था, लेकिन कुछ समय के भीतर ही इस निर्णय को लेकर विभाग ने यूटर्न ले लिया.

    बाद में स्पष्टीकरण दिया गया कि इस निर्णय में कुछ तकनीकी त्रुटियां हैं, इसलिए उसे संकेतस्थल से हटाया गया है. दुरुस्ती के बाद पुन: निर्णय जारी किए जाने की जानकारी भी शिक्षण विभाग द्वारा दी गई है. जो भी हो लेकिन शिक्षण विभाग में समन्वय का अभाव व आननफानन में लिए गए निर्णय को लेकर चर्चा शुरू है. 

    स्थानीय स्तर पर होगी समीक्षा

    स्थानीय स्वराज्य संस्था व शालाओं की मदद से कोरोना मुक्त क्षेत्र में शालाएं शुरू करने को लेकर 5 जुलाई को शिक्षण विभाग द्वारा मार्गदर्शक सूचना जारी की गई थी, लेकिन देर रात संकेत स्थल से उसे हटा दिया गया. उसके क्रियान्वयन को लेकर शंका व भ्रम की स्थिति बनी हुई है.

    वहीं शाला शुरू करने से पूर्व स्थानीय स्तर पर रिपोर्ट मंगवाने के बाद जिले की समीक्षा की जाएगी ऐसा बताया जा रहा है. इसमें पालकों व मुख्याध्यापकों की सहमति भी आवश्यक होगी. जिससे यह सभी तकनीकी मुद्दों को भी शासन निर्णय में शामिल किया जाएगा. ऐसी जानकारी मिली है.