Minor girl strangled to death, fear of rape

  • ट्रैवल्स से पुणे जा रही थी

गोंदिया. जिले के ग्रामीण क्षेत्र की रहने वाली 21 वर्षीय युवती पुणे की एक निजी कम्पनी में काम करती है. पिछले दिनों वह अपनी बहन की शादी में घर आई थी. विवाह की सभी विधि के बाद वह 5 फरवरी को दोपहर 4.30 बजे पुणे जाने के लिए नागपुर से गुडविल ट्रैवल्स की स्लीपर बस में सवार हुई. आधी रात के बाद वाशिम जिले के मालेगांव के पास बस क्लीनर नागपुर के सीताबर्डी परिसर निवासी समीर देवकर (25) ने उसके साथ छेड़खानी शुरू की.

इससे पहले की वह युवती शोर मचाकर अन्य यात्रियों को नींद से जगाती, इसके पहले ही समीर ने उसे धारदार चाकू का भय दिखाकर उसके साथ 2 बार दुष्कर्म किया. 6 जनवरी को सुबह पुणे पहुंचने के बाद युवती ने पुणे में रहने वाली अपनी एक सहेली को फोन पर घटना की जानकारी दी. इसके बाद दोनों मिलकर सीधे पुणे ग्रामीण थाने पहुंची. जहां पीड़िता की रिपोर्ट पर पुलिस ने क्लीनर समीर देवकर के खिलाफ धारा 376 (2), एन व 506 के तहत मामला दर्ज किया.

घटना की शुरुआत वाशिम जिले के मालेगांव से हुई थी. जिससे पुणे पुलिस ने मामला मालेगांव पुलिस के सुपुर्द किया. मालेगांव पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और गुडविल ट्रैवल्स की बस (क्रमांक यूपी 73 ए 8020) को कब्जे में लेकर थाने में जमा की. बस की जिस बर्थ पर घटना हुई थी उस बर्थ से कपड़े भी बरामद किए. घटना के बाद फरार आरोपी की मालेगांव पुलिस खोज कर रही है.

गृहमंत्री ने दिखाई गंभीरता

जिले के पालकमंत्री व राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने इस घटना को बेहद गंभीरता से लिया है. दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. इस तरह की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. महिला अपराध से निपटने के लिए ही शक्ति कानून बनाया गया है. इसकी समीक्षा बैठक भी आयोजित की गई.