Farmers Andolan

तिरोड़ा. जिलाधीश ने धान खरीदी केंद्र शुरू करने की अनुमति दी है. जिससे केंद्र शुरू भी हो गए है, लेकिन केंद्रों पर शासन की ओर से लादी गई शर्तों से खरीदी शुरू नहीं हुई है. परिणाम स्वरूप किसान दिवाली को देखते हुए धान व्यापारियों को बेच रहे है. इससे त्रस्त होकर तिरोड़ा तहसील के किसानों ने तहसील कार्यालय के सामने ही अर्धदफन आंदोलन शुरू कर दिया. जब तक लिखित आश्वासन नहीं मिलता तब तक आंदोलन शुरू रखने का निर्णय किया है. आंदोलन को देखते हुए पुलिस का भारी बंदोबस्त तैनात किया गया है.

केंद्रों पर रखा है धान

किसानों ने धान की कटाई की, मलनी भी कर ली है. जबकि धान खरीदी केंद्र शुरू नहीं हुए थे. जिलाधिश ने विविध कार्यकारी सेवा सहकारी संस्था के माध्यम से 70 गारंटी भाव खरीदी केंद्रों को मंजूरी दी. इसमें जिला मार्केटिंग अधिकारी ने 5 दिनों में धान खरीदी करने के निर्देश दिए है. किसानों को केंद्र शुरू होने की जानकारी मिलते ही केंद्रों पर धान ले जाकर रखा. लेकिन वहां पहुंचने पर अलग ही अनुभव आया. केंद्र संचालकों ने केंद्र खोल दिए. जबकि धान की खरीदी शुरू ही नहीं की है.

प्रशासन के इस पेंच से त्रस्त होकर तिरोड़ा तहसील के नवेझरी के सरपंच महेंद्र भांडारकर व उप सरपंच प्रदीप निशाने ने अन्य किसानों के साथ तहसील कार्यालय परिसर में मंगलवार को दोपहर में अर्धदफन आंदोलन किया गया. यह आंदोलन समाचार लिखे जाने तक जारी था. इस समय तहसीलदार प्रशांत घोरुडे व थानेदार उध्दव डमाले ने आंदोलनकर्ताओं से भेंट कर उन्हें समझाने का प्रयास किया.