प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

    गोंदिया. बीते 14 मई को कामठा निवासी  घनश्याम उर्फ मोनू अग्रवाल (25) के घर पर 70 किलो 250 ग्राम कीमत 8 लाख 43 हजार का माल मिलने से फिर्यादी तेजेंद्र मेश्राम की लिखित शिकायत पर रावनवाड़ी थाने के पुलिस उपनिरीक्षक मोरे ने एनडीपीसी एक्ट के तहत  मामला दर्ज कर जांच शुरू की.

    घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे ने प्रभारी अधिकारी को इस प्रकरण की जांच  के निर्देश दिए. जिस पर गांजे की पूर्ति करने वाले आरोपी की खोज करने के लिए पुलिस उपनिरीक्षक कोरे के नेतृत्व में एक दल तैयार किया गया जिसमें पुलिस नायक चौहान, भूरे व   सिपाही उनके साथ थे.

    यह सभी उड़ीसा राज्य में चले गए जहां अंगुल जिले में उक्त जानकारी के आधार पर गांजे की पूर्ति करने वाले आरोपी ग्राम कडाली मुंडा निवासी अरखित बिंबाधर बेहरा (40) को गिरफ्तार किया गया. पुछताछ करने पर आरोपी ने अग्रवाल को गांजा पूर्ति करने की बात कबूल की. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय से एक दिन की  पुलिस हिरासत मांगी है.

    जांच रावणवाड़ी थाने के थानेदार उमेश पाटिल कर रहे हैं. यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे, अपर पुलिस अधीक्षक अशोक बनकर, उपविभागीय पुलिस अधिकारी जगदीश पांडे के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक उमेश पाटील, सहायक पुलिस निरीक्षक सर्वदे, पुलिस उपनिरीक्षक महेश कोरे, पुलिस नायक चौहान, भुरे, बिसेन, दीक्षित कुमार दमाहे, धनंजय शेंडे व सायबर सेल ने की.