Parsodi School

  • हमारी शाला-आदर्श शाला उपक्रम में प्रथम

सड़क अर्जुनी. अदानी फाउंडेशन तिरोड़ा व जिप गोंदिया के संयुक्त तत्वावधान में क्रियान्वित हमारी शाला-आदर्श शाला उपक्रम में सड़क अर्जुनी तहसील अंतर्गत जिप वरिष्ठ प्राथमिक शाला परसोड़ी ने प्रथम स्थान हासिल किया है.

हमारी शाला-आदर्श शाला उपक्रम 2019-20 के लिए क्रियान्वित किया गया. इसमें पुरे वर्ष शाला के माध्यम से क्रियान्वित नए उपक्रम, विद्यार्थियों की गुणवत्ता, भौतिक सुविधा, जनसहभाग, नवोदय, छात्रवृत्ति, प्रज्ञाशोध, विभिन्न स्पर्धा परीक्षा में विद्यार्थियों की सफलता आदि कार्यों की समीक्षा प्रत्यक्ष जानकारी की जांच जिला स्तरीय टीम ने की.

इन उपक्रमों पर हो रहा कार्य विभिन्न सहशालेय उपक्रम, पौधारोपण, महापुरुषों की जयंती व पुण्यतिथि, एक भारत श्रेष्ठ भारत, प्रत्यक्ष कृति शिक्षण, आदर्श परिपाठ, सामान्य ज्ञान स्पर्धा, डिजिटल शिक्षा, पक्षियों की पानपोई, रक्तदान शिविर, नवोदय छात्रवृत्ति कक्षा, अंतरराज्यीय अध्ययन दौरा, स्वच्छता पखवाड़ा, पट पंजीयन, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, नशामुक्ति, जैविक गोमटीबाग, खाद निर्माण, ऑन लाइन स्टडी, एक दिन शाला के लिए, वाचन प्रेरणा दिवस, शैक्षणिक क्षेत्र भेंट जैसे नए उपक्रम शाला ने क्रियान्वित किए. मुख्याध्यापक हिवराज परशुरामकर, जगदीश शहारे, एस.आई.दुधकनोजे, नीलकंठ कोरे, प्रतिमा शहारे, अरुण शिवणकर, डुमेंद्र चांदेवार आदि ने योगदान दिया. शाला के विकास के लिए पूर्व जिप सदस्य गंगाधर परशुरामकर, केंद्र प्रमुख जी.जे.कापगते, शाला समिति के अध्यक्ष किशोर कावले, उपाध्यक्ष दीपक शिवणकर, राजेश कापगते, योगेश खोटेले, सरपंच पमुताई कुसराम, ग्रापं सदस्य, बहिला बचत गट, पुलिस पटेल नारद मांढरे ने श्रमदान व हर संभव सहयोग किया.

सफलता पर गट शिक्षणाधिकारी के.वाई.सयाम, सुनील राऊत, एस.जी.मेश्राम, जे.आई.कटरे आदि ने अभिनंदन किया. शाला की पट संख्या बढ़ी जिले में नए नए अभिनव उपक्रम व गुणवत्तापूर्ण दर्जेदार शिक्षा के लिए इस जिप की शाला की अपनी अलग पहचान है. इसी के परिणामस्वरुप गत वर्ष की पटसंख्या की तुलना में इस वर्ष पटसंख्या 45 से बढ़ी है. शाला में कॅान्वेंट व अंग्रेजी माध्यम में 23 विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया है. कक्षा पहली में भर्ती के लिए 19 विद्यार्थी है. इनकी संख्या अब दुगनी हो गई है. नवोदय छात्रवृत्ति, प्रज्ञाशोध, एनएमएनएस में विद्यार्थी पात्र हुए है. इसमें कुल 193 विद्यार्थियों में से बाहर गांव से आने वाले विद्यार्थियों की संख्या 71 है.