Illegal eticket business

  • 65,000 का माल जब्त

गोंदिया. गोंदिया रेलवे सुरक्षा बल के प्रभारी अधिकारी नंद बहादूर के नेतृत्व में सालेकसा बाजार चौक परिसर में स्थित ग्लोब कम्प्यूटर ई सेवा केंद्र पर छापा मारकर रेलवे ई-टिकट का अवैध व्यापार करने वाले दूकान के संचालक मधुकर मोहनलाल हरिणखेडे (41) को गिरफ्तार किया गया है. कार्रवाई के दौरान टीम के अधिकारियों ने ई-टिकटों के साथ ही 65 हजार रुपये कीमत का सामान भी जब्त किया है.

IRCC का अधिकृत एजेंट नहीं

मंडल सुरक्षा आयुक्त पंकज चुग, सहायक सुरक्षा आयुक्त एस.डी.देशपांडे के मार्गदर्शन में प्रभारी नंद कुमार के नेतृत्व में उपनिरीक्षक मयंक मिश्रा, आरक्षक नासीर खान, बी.कोरचाम, एल.एस.बघेल व आर.जी. बंघाटे आदि टीम के साथ ग्लोब कम्प्यूटर ई-सेवा केंद्र पर पहुंचे. जहां अधिकारियों ने अपना परिचय देकर उससे ई-टिकट के अवैध व्यापार संबंध में पूछताछ शुरू कर दी. 

मधुकर हरिणखेडे ने बताया कि वह आईआरसीसी का अधिकृत एजेंट नहीं है, किंतु अधिक लाभ कमाने के लिए वह उनके दूकान में काम करने वाले ईसनाटोला-सालेकसा निवासी राजेश पांडुरंग बागडे (32) के साथ पर्सनल आईडी से रेलवे की ई-टिकट बनाने का कार्य करता है. कार्रवाई के दौरान दूकान के कम्प्यूटर सिस्टम की जांच की गई. जिसमें एसजेडएलएम 123 के नाम से बनी फर्जी पर्सनल आईडी से 1 नग लाइव व 7 नग पुरानी रेलवे ई-टिकट कुल 8 नग, ग्लोबीमधु के नाम वाली फर्जी आईडी से कुल 4 नग रेलवे की ई-टिकट बरामद हुई.

ग्राहकों की मांग पर बनाते है टिकट

आरोपी से पूछताछ करने पर बताया कि उसका काम ऑनलाइन फार्म भरना व आधार कार्ड बनाना है. इसी बीच ग्राहक आते रहते हैं. उन्हीं ग्राहकों की मांग पर ई-टिकट बनाकर देते हैं. इसके बदले में 50 से 100 रुपये लेते है. रेलवे सुरक्षा बल की टीम ने 1 नग लाइव व 11 नोज एसार कम्पनी का कम्प्यूटर कीमत 5 हजार, 1 इनटेक्स कम्पनी का सीपीयू 13 हजार रुपये, प्रिंटर 12 हजार रुपये, माउस 2 हजार रुपये, मोबाइल 15 हजार रुपये इस तरह कुल 65,86 रुपये का माल घटनास्थल से जब्त किया गया. इस प्रकरण में रेलवे सुरक्षा बल ने रेल अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है.