Setu Kendra

    गोंदिया. सेतु केंद्रों में पारदर्शिता रहे, जनता के साथ किसी प्रकार की धोखाधड़ी न हो व सेतु केंद्रों की ओर देखने का नजरिया बदले इसे लेकर सेतू केंद्र जांच दल तैयार किया गया. इसके तहत सड़क अर्जुनी तहसील अंतर्गत सेतु केंद्रों की जांच की गई.

    5 हजार जुर्माना ठोंका

    दल में सूचना तंत्रज्ञान विभाग के एचजी पौनीकर व विशाल बागड़े शामिल थे व अरविंद पातोड़े व अंकित गुप्ता केंद्र संचालकों ने शासन निर्णयानुसार ‘आपले सरकार सेवा केंद्र’ का फलक केंद्र में नहीं लगाने से उस पर 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया. इसी प्रकार प्रो प्रा पलिंद्र अंबादे के नाम से सेतु की आयडी कार्यालय महिला बचत गट के काम के लिए दी गई थी लेकिन सेतु केंद्र की आयडी दूसरे को देकर (प्रशांत झेराक्स) तहसील कार्यालय सड़क अर्जुनी के सामने 20 मीटर पर स्थापित होने की बात सामने आई. जो शासन निर्णयानुसार गंभीर विषय होने से जिलाधीश के आदेश पर  उक्त सेतु केंद्र स्थायी रूप से बंद करने करने का सख्त आदेश दिया गया.

    उपविभागीय अधिकारी ने की जांच

    तहसील कार्यालय सड़क अर्जुनी व अर्जुनी मोरगांव में भी सेतु केंद्रों की जांच स्वतंत्र दल के द्वारा की गई. यह जांच अर्जुनी मोरगांव उपविभागीय अधिकारी शिल्पा सोनाले द्वारा की गई. निवासी उप जिलाधीश जयराम देशपांडे के अनुसार जिले में इस प्रकार अचानक सेतु केंद्रों की जांच कार्रवाई शुरू रहेगी.