Gondia Rain

गोंदिया. जिला मुख्यालय से सबसे बड़ी नगर परिषद ने सतत पॉजिटिव मरीज मिलने से 2 दिन शनिवार व रविवार को जनता कर्फ्यू की घोषणा की है. इसके प्रथम दिन शनिवार को कई व्यापारियों ने सहयोग कर अपनी दूकानों को बंद रख दिया था, जबकि दूसरे दिन रविवार को अनेकों दूकानें चालू रहीं.

रविवार को मार्केट में कई दूकानों को खुली थी, पुराना बस स्टैंड परिसर में मछली, मटन व मुर्गों की दूकाने पूर्ण रूप से खुली थी, बड़ी संख्या में खरीददारी करते दिखाई दिए. इसके अलावा शहर के मध्य क्षेत्र की मार्केट एरिया व सब्जी मंडी को छोड दे तो बाकी शहर के दूसरे परिसर में कुछ दूकानें शुरू थी.

नप प्रशासन ने की अपील
नगर परिषद प्रशासन व पदाधिकारियों ने जनता कर्फ्यू के तहत स्वयंस्फूर्ति से बंद में सहयोग करने का आव्हान किया था, किंतु व्यवसायिक जगत में इसे पर्याप्त प्रतिसाद नहीं मिला. उल्लेखनीय है कि नप के माध्यम से जनता कर्फ्यू लागू करने की सूचना जिला प्रशसन को दी गई थी.

इसी तरह कर्फ्यू को पूर्णत: अनुशासन के साथ उसका पालन करने पुलिस विभाग की मदद ली जानी थी, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं किया गया. इसके विपरीत जनता कर्फ्यू के दिन ही एक ही परिवार के एक साथ 13 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए है. इस जनता कर्फ्यू  को पुलिस विभाग ने कोई सहयोग ही नहीं किया है. दो दिन में कहीं भी पुलिस ने किसी के वाहन या दुपहिया की चालान नहीं काटी है. मजेदार बात यह है कि इस जनता कर्फ्यू का व्यापारी वर्ग पहले से ही विरोध कर रहा था.