Encroachment Gondia

गोंदिया. नप का अतिक्रमण हटाओ अभियान सतत शुरू है. शुक्रवार को भी शहर का अतिक्रमण हटाया गया है. नप व पुलिस विभाग ने संयुक्त रूप से कार्रवाई कर विश्रामगृह से लेकर मरारटोली बस स्टैंड तक मार्ग के दोनों छोर पर बनी दूकानों को हटा दिया है. कार्रवाई के लिए 2 जेसीबी मशीन व 4 ट्रैक्टरों का इस्तेमाल किया गया.

अतिक्रमण हटाने की शुरुआत शक्ति चौक परिसर से की गई. इस परिसर में रखे अधिकांश ठेलों को हटाया गया. इसके बाद गजेंद्र होटल के सामने बनी छत हटा दी गई, कब्रिस्तान परिसर में बोपचे टाइल्स, होटल केशर के सामने बना शेड हटाया गया, श्रावण ऑटो सेंटर, पूर्व पान पैलेस, कृष्णा कॉफी दूकान के सामने लगी सभी बास बल्लियों से बनी छतों को निकाल दिया गया.

नए उड़ान पुल के नीचे से ठेलों को हटाया

इस कार्रवाई के दौरान बीएसएनएल कार्यालय के सामने सीमेंट से बनी पक्की दूकानों को जेसीबी मशीन से हटा दिया गया है. यह दूकानें सावरकर व मनोज तिडके की थी. नए उड़ान पुल के नीचे रखे कुछ ठेलों को भी हटाया गया. अतिक्रमण हटाने की पूर्व सूचना मिलने पर विश्रामगृह के सामने वाले सभी फुटपाथ विक्रेताओं ने रात में ही अपनी दूकानें हटा ली थी. सार्वजनिक बांधकाम विभाग के सामने भी नप के तोडू दस्ते ने -3-4चाय दूकानदारों को खदेड़ा. उड़ान पुल के नीचे कुछ जगहों को जेसीबी मशीन से समतल भी किया गया है. इस समय गैस कटर का भी सहारा लिया गया. जिसमें दूकान में लगे एंगल को काट कर हटाया गया. 

जिलाधीश ने दिए थे निर्देश 

उल्लेखनीय है कि जिलाधीश दीपककुमार मीना ने 10 दिसंबर को अधिकारियों की बैठक लेकर अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे. इसके बाद नप, सार्वजनिक बांधकाम विभाग, तहसील कार्यालय, विद्युत विभाग के अधिकारियों ने समन्वय बनाकर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू की है. कार्रवाई नप की अभियंता डाली मदान, उप अभियंता आर. वाय. कावडे, ए. जी. दाते, सहायक नगर रचनाकार सागर मोगरे, प्रतीक नाकाडे, सौरभ कावडे, स्वास्थ्य निरीक्षक गणेश हथकैय्या, मनीष बैरीसाल, मुकेश शेंद्रे, विद्युत अभियंता मोनिका वानखेडे, सहायक पुलिस निरीक्षक टिलेकर, हेड कांस्टेबल पठान, बडवाइक, नागपुरे, सोनवाने व वनवे आदि ने की है.