Data Entry Operators

  • केंद्रों के लिए उधारी पर मनुष्य बल लेने की नौबत

गोंदिया. कोरोना का संक्रमण पुन: बढ़ने से इस पर प्रतिबंध लगाने के लिए कोरोना टीकाकरण को गति देने के निर्देश केंद्र व राज्य सरकार ने दिए हैं. इसके अनुसार स्वास्थ्य विभाग ने जिले में टीकाकरण केंद्रों में वृध्दि की है. जिले में कुल 103 टीकाकरण केंद्रों से डोज देने की शुरुआत की गई. टीकाकरण के पहले पंजीयन करना होता है लेकिन इसके लिए डाटा एन्ट्री ऑपरेटर की कमी होने से वह पंचायत विभाग से उधारी पर लेने की जानकारी मिली है.

उल्लेखनीय है कि कोरोना टीकाकरण के दूसरे चरण में अब तक 65 हजार नागरिकों को टीकाकरण किया गया है. इसी में 1 अप्रेल से 45 वर्ष वाले सभी नागरिकों को कोरोना टीकाकरण  का निर्णय केंद्र सरकार ने लिया है. जिले में 45 वर्ष वाले 5 लाख 50 हजार नागरिक हैं  जिससे उन्हें डोज देने के लिए केंद्रों की संख्या बढ़ाने की जरूरत है. इसके लिए मनुष्यबल भी लगने वाला है.

जिला स्वास्थ्य विभाग ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों सहित अब 39 प्राथमिक स्वास्थ्य उपकेंद्रों में  डोज देना शुरू किया है. पहले दिन लगभग 4 हजार नागरिकों का टीकाकरण किया गया है. जिला स्वास्थ्य विभाग ने हर दिन 5 हजार नागरिकों को कोरोना टीका देने का लक्ष्य रखा है. इस कार्य के लिए डॉटा एन्ट्री ऑपरेटर की कमी होने से फिलहाल ग्राम पंचायत में कार्यरत डाटा एन्ट्री ऑपरेटर की मदद ली जा रही है. 

बकाया है वेतन

जिले जनवरी माह से कोविड टीकाकरण की प्रक्रिया  शुरू की गई है. इसके लिए अनुबंध अंतर्गत डाटा एन्ट्री आपरेटर  लिए गए हैं लेकिन उन्हें व नर्सों को पिछले 3 माह से वेतन नहीं दिया गया है. जिससे वे विभिन्न आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग के अनुसार  सप्ताह भर में वेतन की समस्या हल कर दी जाएगी.