traffic jam
File Photo

सड़क अर्जुनी. राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 6 पर मार्ग के दोनों छोर पर वाहन चालक वाहनों को खड़े कर देते है. जिससे दुर्घटनाओं की संख्या बढ़ गई है. इस परिसर में अतिक्रमण में भी वृद्धि हो रही है. इस ओर संबंधित विभाग के अधिकारी दुर्लक्ष कर रहे हैं.

शासन का जोर सुरक्षित मार्ग निर्माण पर है. इसके लिए अब महामार्गों का निर्माण किया जा रहा है. कोहमारा से निकले राष्ट्रीय महामार्ग पर भी सुरक्षित यातायात के लिए फोर लाइन के काम किए गए है. यह मार्ग मुंबई से कोलकता मार्ग होने से इस मार्ग पर रात दिन भारी वाहनों का आवागमन होता है.

सड़क किनारे खड़े रहते है वाहन

इस मार्ग पर ढाबे व वाहन दुरुस्ती की दूकानें है. जिससे वाहन चालक अपने वाहनों को मार्ग के बाजू में खड़े कर देते हैं. जिससे तेज गति से आने वाले वाहन खड़े वाहनों से टकरा जाने पर दुर्घटनाएं हो रही है. इसमें अनेक लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ रही हैं. इस ओर महामार्ग प्राधिकरण व्यवस्थापन व महामार्ग पुलिस दुर्लक्ष कर रही है.

मार्गों की अखंडता, देश की एकता इस कथनानुसार केंद्र व राज्य शासन की ओर से मार्गों का जाल बिछाया जा रहा है. इस पर करोड़ों की निधि खर्च की जा रही है. सुरक्षित यातायात के लिए अच्छे मार्गों का होना आवश्यक है. इसके लिए स्वतंत्र महामार्ग प्राधिकरण की स्थापना की गई है.