Maharashtra Express
Representational Pic

  • पहले दिन केवल 132 यात्री
  • दूध का डिब्बा नहीं लगा

गोंदिया. दपूम रेलवे नागपुर मंडल अंतर्गत सर्वाधिक महत्वपूर्ण गोंदिया रेलवे स्टेशन में लंबी प्रतीक्षा के बाद जब महाराष्ट्र एक्सप्रेस का परिचालन प्रारंभ हुआ, तो 12 अक्टूबर को इसमें मात्र 26 तथा 13 अक्टूबर को जब सुबह 8.10 बजे यह ट्रेन प्लेटफार्म क्र. 1 से कोल्हापुर के लिए रवाना हुई, तो उसमें 132 यात्री ही सवार हुए. इस ट्रेन का परिचालन 22 मार्च से बंद कर दिया गया था, लेकिन ट्रेन के शुरू हो जाने से रेल यात्रियों में भारी उत्साह देखा गया.

उल्लेखनीय है कि पिछले 6 माह से नागपुर जाने के लिए नियमित व सुबह के समय ट्रेन उपलब्ध नहीं होने से अन्य यात्रियों के साथ ही प्रतिदिन अप डाउन करने वाले यात्रियों को भारी परेशानी हो रही थी. इसमें अधिकांश लोगों को फोर व्हीलर वाहन से नागपुर जाना पड़ता था, लेकिन अब महाराष्ट्र एक्सप्रेस शुरू हो जाने से ऐसे यात्रियों को अब तक चली आ रही त्रासदी से मुक्ति मिल जाएगी. 

ऑनलाइन बुकिंग करने वालों को सफर की अनुमति

कोरोनाकाल में बंद पड़ी सभी ट्रेनों को रेल मंत्रालय चरणबद्ध तरीके से पुन: शुरू करने में जुट गया है. महाराष्ट्र एक्सप्रेस में केवल आरक्षित टिकट ऑनलाइन बुकिंग करने वाले यात्रियों को ही सफर की अनुमति है. इसमें गोंदिया-नागपुर के बीच रेल का किराया इस तरह है. सेकंड एसी का किराया 645 रूपए , थर्ड एसी 640 रूपए, द्वितीय श्रेणी स्लीपर 135 रूपए व द्वितीय श्रेणी स्लीपर सीटिंग का किराया 70 रूपए है. दपूम रेलवे बिलासपुर-नागपुर मंडल के तहत गोंदिया होकर फिलहाल 19 ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो गई है.

दूध का डिब्बा फिलहाल नहीं

उल्लेखनीय यह है कि प्रतिदिन इस ट्रेन में जुड़ऩे वाला दूध का डिब्बा फिलहाल नहीं लगाया गया है और अभी यह निश्चित भी नहीं है कि कब से लगेगा.