कोरोना वायरस का टीकाकरण करने सुक्ष्म नियोजन करें- जिलाधीश मीना

गोंदिया. कोरोना वायरस से निपटने के लिए टीका कुछ ही दिनों में उपलब्ध होने वाला है. वैद्यकीय क्षेत्र के डाक्टर्स, नर्सेस तथा जोखीम वाले मरीजों का प्राथमिकता के साथ टीकाकरण किया जाएगा. हर एक कोरोना योध्दा का टीकाकरण किया जाएगा. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग सभी स्तर पर सुक्ष्म नियोजन करें ऐसा आव्हान जिलाधीश दीपककुमार मीना ने जिलाधीश कार्यालय के जिला नियोजन समिति सभागृह में आयोजित कोरोना वायरस के टीकाकरण नियोजन संदर्भ में जिला टास्क फोर्स की समीक्षा बैठक में किया. इस अवसर पर अपर जिलाधीश राजेश खवले, निवासी उप जिलाधीश स्मीता बेलपत्रे उपस्थित थे.

जिलाधीश मीना ने कहा कि कोरोना टीकाकरण अभियान शहर से ग्रामीण स्तर तक क्रियान्वित करना है. जिससे टीकाकरण करने वाले कर्मियों के प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान दे. टीका लगाने के लिए प्रशिक्षित दल निर्माण कर उसका पर्यवेक्षकीय देखरेख उचित रुप से किया जाए. इसके लिए लगने वाली साधन सामग्री व टीका लगाने वाले केंद्र का सुक्ष्म नियोजन कर रेलवे अंतर्गत अस्पताल, निजी अस्पताल संपूर्ण रुप से संरक्षित किया जाए. कोविड 19 टीकाकारण संबंधी आईईसी का उचित उपयोग करे. हर एक व्यक्ति तक टीका पहुंचाने के लिए सभी शासकीय व गैरशासकीय यंत्रणा समन्वय रखकर काम करे.

टीकाकरण का लाभ वैद्यकीय क्षेत्र को सबसे पहले दिया जाएगा. जिले में टीका संग्रह के लिए पर्याप्त साधन सामग्री है. जिला स्वास्थ्य अधिकारी व जिला शल्य चिकित्सक के कार्यक्षेत्र मिलाकर लगभग 55 शासकीय स्वास्थ्य संस्था व 57 निजी अस्पतालों के कुल 8636 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका देने का नियोजन किया गया है. इसके लिए 950 टीका वायल्स आवश्यक है. ऐसी जानकारी समीक्षा बैठक में दी गई. जिला स्तर पर फ्रिज की श्रृंखला अपडेट की दी गई है. जिससे टीका रखने के लिए कोई भी समस्या नही होगी. टीका लगाने के बाद संबंधित व्यक्ति को आधे घंटे टीकाकरण केंद्र पर रोका जाएगा. टिका रखने के लिए सभी केंद्र पर शीतपेटी उपलब्ध रहेगी. ऐसी जानकारी जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा.नितीन कापसे ने दी.

इस सभा में शासकीय मेडिकल कॉलेज के डीन डा.नरेश तिरपुडे, जिला शल्य चिकित्सक डा.अमरीश मोहबे, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. नितीन कापसे, जिला माता व बाल संगोपन अधिकारी डा.संजय पांचाल, एकात्मिक आदिवासी विकास प्रकल्प अधिकारी जितेंद्र चौधरी, शिक्षणाधिकारी (प्राथमिक) राजकुमार हिवारे, उप शिक्षणाधिकारी (माध्यमिक) समरीत, पुलिस उप अधीक्षक (गृह) वैशाली पाटिल, जिला क्रीड़ा अधिकारी घनश्याम राठोड, देवरी के उप विभागीय अधिकारी शिल्पा सोनारे, आईएमए की अध्यक्ष डा.चिटणवीस, नेहरु युवा केंद्र की जिला समन्वयक श्रृति डोंगरे, महिला व बाल कल्याण विभाग के ए.एच.टेंभुरकर, समाज कल्याण निरीक्षक वी.डी. नटाले, सहायक कामगार आयुक्त प्रतिनिधि सचिन अरबट आदि उपस्थित थे.