Gondia Collector Meena

गोंदिया. राज्य में कोरोना का बढ़ता प्रभाव रोकने के लिए शासन ने मेरा परिवार-मेरी जिम्मेदारी यह अभियान हाथ में लिया है. कोरोनाकाल के दौरान जिले में क्रियान्वित की जाने वाली मेरा परिवार-मेरी जिम्मेदारी अभियान को सफल बनाने क लिए यंत्रणा आपस में समन्वय रखकर काम करे ऐसे निर्देश जिलाधीश दीपककुमार मीना ने जिलाधीश कार्यालय के जिला नियोजन समिति सभागृह में आयोजित सभा में दिए.

इस अवसर पर जिप की प्रभारी सीईओ एस. भुवनेश्वरी, अपर जिलाधीश राजेश खवले, निवासी उप जिलाधीश सुभाष चौधरी, शासकीय मेडिकल कॉलेज के डिन डा.एन.जी.तिरपुडे, जिला शल्य चिकित्सक डा.भुषणकुमार रामटेके, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा.श्याम निमगडे उपस्थित थे.

जिलाधीश मीना ने आगे कहा कि मेरा परिवार-मेरी जिम्मेदारी यह राज्य शासन की महत्वाकांक्षी अभियान है. जिले में कोरोना प्रभावितों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखकर मेरा परिवार-मेरी जिम्मेदारी अभियान अंतर्गत जिले के परिवारों के संपूर्ण सर्वेक्षण 5 से 6 दिनों में होना चाहिए.

सर्वे के काम करने के लिा आशा सेविका, आंगनवाडी सेविका व सहायिका की सेवा ली जाए. उनके पास पल्स ऑक्सीमीटर, थर्मल गन, मास्क, सैनिटाईजर व हैंड ग्लोव्ह उपलब्ध कराया जाए.

इसके साथ ही सर्वे के लिए शिक्षकों की मदद ली जाए. आशा सेविकाओं की समस्या पर विशेष ध्यान दिया जाए. जिले की ग्रापं स्तर पर मेरा परिवार-मेरी जिम्मेदारी अभियान अंतर्गत परिवारों का सर्वे शुरु होने की जानकारी उन्होंने दी. परिवारों का सर्वे करने के लिए डाटा एंट्री के काम जल्द से जल्द होने चाहिए. इस कार्य में गट विकास अधिकारी को प्रत्यक्ष ध्यान देने की जरुरत है.

इस सभा में जिप उप मुख्य कार्यपालन अधिकारी (ग्रापं) नरेश भांडारकर, जिला कृषि अधीक्षक गणेश घोरपडे, सहायक जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा.पांचाल, सहायक पुलिस अरविंद राऊत, डा.विनायक रुखमोडे, सभी तहसीलदार, तहसील वैद्यकीय अधिकारी व गट विकास अधिकारी आदि उपस्थित थे.