Sri Sai Temple, Gondia

    गोंदिया. स्थानीय टीबी टोली, विद्यानगर परिसर में स्थित श्री सांई मंदिर में 3 मार्च को किसी ने बम रख दिया था. इस घटना को इतने दिन बीत गए पर अब तक आरोपी का कोई सुराग नहीं मिला है. इस संबंध में रामनगर थाने में भारतीय विस्फोटक पदार्थ कानून 1908 व भारतीय हथियार कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है. जानकारी मिलते ही बम खोजी दस्ता बीडीडीएस दल के पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों को बुलाया गया था. जिसने सतर्कता के साथ बम को डिफ्यूज कर दिया.

    नक्सली एंगल से भी जांच

    इसके बाद उसे जब्त कर जांच के लिए नागपुर फोरेंसिक लैब भेज दिया गया. जहां से रिपोर्ट अब तक नहीं मिली है. पुलिस का कहना है कि किसी ने दहशत फैलाने के उद्देश्य से मंदिर में बम रख दिया था. इस घटना की पुलिस बारीकी से जांच कर रही है. इतना ही नहीं पुलिस ने श्री सांई मंदिर मार्ग पर लगे सभी 6 मार्गों के सीसीटीवी फुटेज की जांच की है. प्रकरण में पुलिस नक्सली एंगल से भी जांच कर रही है. इसमें सवाल यह उठ रहा है कि आखिर मंदिर को उड़ाने की साजिश किसने रची थी या फिर आरोपी का कालोनी में दहशत फैलाने का इरादा था. 

    हो सकती थी बड़ी हानि

    इस संबंध में एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि तीन से चार शेर शिकार बम से बारुद निकालकर किसी ने एक बम बनाकर रख दिया था. यह बम अगर फट जाता तो मंदिर क्षतिग्रस्त होने के साथ ही बड़ी जनहानी की घटना घट सकती थी. जांच जिला अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक बबन आव्हाड़ के मार्गदर्शन में पुलिस उप निरीक्षक तेजेंद्र मेश्राम कर रहे हैं.