paddy centers

    तिरोड़ा. रबी धान खरीदी के समर्थन मूल्य धान खरीदी केंद्रों पर 30 जून तक की समय सीमा निश्चित की गई थी लेकिन 1 मई से खरीदी केंद्र सरकार द्वारा शुरू न कर 15 जून से शुरू किए गए जिसमें से कुछ केंद्र कभी शुरू तो कभी बंद रहते थे.  किसानों को धान बेचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. अब  मात्र 15 जुलाई तक खरीदी का आदेश जारी किया गया है.  

    अनेक किसानों ने कम दाम में बेच दिए धान

    परेशानी व झंझट से बचने के लिए कुछ किसानों ने सरकारी दाम की तुलना में 500 रु. का नुकसान सहन कर कृषि उपज मंडी में धान बेच दिया. इसमें से कई किसानों का पंजीकरण भी किया गया था लेकिन सरकार की किसानों के प्रति उदासीनता की वजह से तंग आकर किसानों ने नुकसान सहते हुए कृषि उपज मंडी में अपना धान बेच दिया.

    धान खरीदी केंद्रों को लेकर किसानों की पूरजोर मांग का जनप्रतिनिधियों ने संज्ञान लेते हुए सरकार पर दबाव बनाया और पंजीकरण तथा धान खरीदी की समय सीमा भी 31 जुलाई तक बढ़ाने की घोषणा की गई.

    आदेश व घोषणा में अंतर

    सरकार द्वारा खरीदी की घोषणा 31 जुलाई तक अखबारों के माध्यम से की गई लेकिन लिखित आदेश देते वक्त मात्र 15 जुलाई तक का उल्लेख किया गया. अखबार पढ़कर किसान 31 जुलाई की ही तारीख को मद्देनजर रखकर धान बिक्री की मानसिकता मन में सजाए बैठे रहे. लेकिन लिखित आदेश के अनुसार धान खरीदी के लिए अब मात्र दो दिन शेष बचे हैं.

    जबकि अनेक किसानों का धान खरीदी करना अभी बाकी है. अत: सभी पंजीकृत किसानों का धान समय सीमा से पूर्व खरीदे जाने की मांग तहसील के किसानों द्वारा की जा रही है.