Gondia Nagar Parishad

  • मुख्याधिकारी चौहान ने खुद संभाला मोर्चा

गोंदिया. नगर परिषद का प्रापर्टी टैक्स बड़े पैमाने पर बकाया है. जिससे नप की आय में भारी कमी आ गई है. इसमें नप मालकी वाले दुकानों का किराया भी शामिल है. इसकी वसूली को लेकर नप ने अभियान शुरू किया है व दुकान किराए का भुगतान नहीं करने वाले दुकानों को ताला ठोंकने का निर्णय लिया है.

दूकानदारों में हड़कंप

नप के इस कड़े कदम से किराएदार दुकानदारों में हड़कंप मच गया है है. बाजार परिसर, इंदिरा गांधी स्टेडियम, गौशाला वार्ड, रामनगर सहित अनेक स्थानों पर नप की दुकानें स्थापित हैं. जिन्हें   किराए पर दिया गया है और यह अपेक्षा थी कि इस किराए की नियमित आय से नप को मजबूत आधार मिलेगा. किराए के भुगतान के लिए नप प्रशासन द्वारा बार-बार मांग करने के बावजूद नियमित भुगतान नहीं हो रहा है और इस तरह किराए की राशि का आंकड़ा 1 करोड़ से ऊपर पहुंच गया है. एक ओर यह स्थिति है वहीं दूसरी ओर आय के अभाव में नप कर्मियों का वेतन भी नियमित नहीं हो पा रहा है. 

टालमटोल करने पर दूकानें होंगी सील

इन हालातों को देखते हुए अब नप मुख्याधिकारी करण चौहान ने मोर्चा संभाल लिया है और  वसूली अभियान को सख्ती से संचालित कर स्वयं अगुवाई कर रहे हैं और जो दुकानदार किराया देने में टालमटोल या बाधा निर्माण करेंगे उन सभी दुकानों को नप कानून अंतर्गत पुलिस प्रशासन की मदद से सील किया जाएगा. उसे लेकर उन्होंने ऐसे बकायादारों को चेताया है कि कार्रवाई होने के पूर्व वे भुगतान कर दें.  

पहले ही दिन 64 हजार रूपए की वसूली

वसूली अभियान के तहत पहले दिन स्टेडियम व्यापार संकुल परिसर से इसकी शुरूआत की गई. जिसमें स्पोर्ट‍्स चैनल दुकान के संचालक ने 64 हजार रूपए का धनादेश सौंपा है. इसके बाद उस परिसर के सभी दुकानदारों को एक दिन का समय दिया गया है. इस अभियान में सीओ चौहान के अगुवाई में नप कर्मी मुकेश मिश्रा, लेखाधिकारी अभिजीत फोपटे, अतुल बादलवार, रमेश खापर्डे, महेश खरोड़े सहित अन्य कर्मी शामिल हैं.