Birsola, Railway platform, Gondia

  • रेल प्रशासन की अनदेखी का खामियाजा भुगत रहे नागरिक

काटीनगर (गोंदिया). दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के गोंदिया से बालाघाट के बीच स्थित बिरसोला स्टेशन को महत्वपूर्ण स्टेशन के रूप मे जाना जाता है. यहां विगत अनेक महीनों से प्लेटफार्म नं. २ पर विस्तारीकरण का कार्य किया जा रहा है जो धीमी गति से हो रहा है. रेलवे प्रशासन की अनदेखी व ठेकेदार की लापरवाही से कार्य मे शिथिलता आई है. जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

उल्लेखनीय है की बिरसोला स्टेशन से प्रतिदिन अनेक ट्रेनें गुजरती थीं. आने वाले समय में गोंदिया से जबलपुर ब्राडगेज पूर्ण होने के बाद इस मार्ग पर दर्जनों ट्रेनों का आवागमन व प्रस्थान होगा. यहां अव्यवस्था के कारण यात्रियों को बड़ी परेशानी उठानी पड़ेगी. बिरसोला से अनेक यात्री, विद्यार्थी, व्यापारी, किसान, यात्रा करते हैं. लेकिन रेलवे स्टेशन में यात्री सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हैं. यह स्टेशन राजस्व देने वाला प्रमुख स्टेशन है.

सुरक्षा दीवार नहीं

रेलवे स्टेशन के दोनों ओर सुरक्षा दीवार नहीं होने से प्लेटफार्म नं. २ के पास से रोजाना अनेक वाहन जिनमें ट्रैक्टर, ट्रक, मेटाडोर, मोटर साइकिल आदि का भारी संख्या में आना जाना रहता है. ऐसे में कोई बड़ी दुर्घटना से इनकार नहीं किया जा सकता. यहां दोनों ओर सुरक्षा दीवार की अत्यंत आवश्यकता है. 

यात्री सुविधाओं की मांग

अंग्रेजों के जमाने में बनाई गई छोटी रेल लाइन के समय बनाई गई कर्मचारी आवास इमारत की हालत जर्जर हो रही है. वैसे ही यात्री प्रतीक्षालय, स्टेशन मास्टर रूम का नवीनीकरण करने की अत्यंत आवश्यकता है. प्लेटफार्म नं. २ पर शौचालय निर्माण, बंद पड़ी कैंटीन शुरू करने के साथ ही विद्युत व्यवस्था करने जैसी सुविधाओं की मांग की जा रही है.