राशन: समयबद्ध कार्यक्रम के माध्यम से नागरिकों को राशन कार्डों का वितरण, 5000 परिवारों को प्राथमिकता से मिलेगा खाद्यान्न

    गोंदिया. जिले में कोविड-19 वायरस के प्रकोप से सैकड़ों परिवारों के अधिकांश सदस्यों की आय खत्म हो गई है. ऐसे समय में प्रशासन जरूरतमंद परिवारों की मदद के लिए प्राथमिकता परिवार योजना लागू करेगा और जिले के 5 हजार परिवारों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए समयबद्ध कार्यक्रम के माध्यम से जरूरतमंदों को राशन कार्ड वितरित किए जाएंगे, ऐसी जानकारी जिलाधीश राजेश खवले ने दी है. 

    जिले में प्राथमिकता परिवार योजना के 1 लाख 43 हजार 761 परिवारों के 6 लाख 73 हजार 332 और अंत्योदय योजना के 78 हजार 457  परिवारों के 3 लाख 49 हजार 26 लाभार्थी खाद्यान्न से लाभान्वित हो रहे हैं. हालांकि, कोरोना काल में कई परिवारों की आर्थिक स्थिति में गिरावट आई और उनकी हालत बिगड़ती गई. इसलिए ऐसे परिवारों को खाद्यान्न योजना का लाभ लेने के लिए जिले के पांच हजार परिवारों को कवर किया जाएगा. यानी इस योजना के तहत करीब 20 हजार जरूरतमंदों को अनाज मिलेगा. इसके लिए जिला प्रशासन के माध्यम से समयबद्ध कार्यक्रम लागू करके सभी तहसीलों में लाभार्थियों को राशन कार्ड वितरित किए जाएंगे. जिले में प्राथमिकता परिवार योजना के क्रियान्वयन के लिए तहसील स्तर पर  विशेष शिविर का आयोजन किया जायेगा. इसके लिए समय-समय पर कार्यक्रम तैयार किए गए हैं. 

    12 से 17 जुलाई तके चलेगा कार्यक्रम

    12 से 17 जुलाई 2021 तक राशन कार्ड तैयार करने, नाम सुधार, नाम कम करने आदि के आवेदनों पर कार्रवाई की जाएगी. इसके बाद 19 से 31 जुलाई  के बीच आवेदन की जांच की जाएगी. साथ ही सभी तहसीलदारों को निर्देश दिया गया है कि वे  2 से 6 अगस्त  के बीच राशन कार्ड वितरण व 7 से 13 अगस्त  के बीच की गई कार्रवाई की रिपोर्ट प्रस्तुत करें.

    जिले में 2 लाख 22 हजार 218 परिवारों के 10 लाख 22 हजार 358 हितग्राही हैं जो राशन कार्ड के माध्यम से खाद्यान्न से लाभान्वित हो रहे हैं. अतः समाज के जिन जरूरतमंदों को कोरोना काल में आर्थिक नुकसान हुआ है, वे प्राधान्य परिवार योजना के माध्यम से खाद्यान्न प्राप्त करने के लिए राशन कार्ड तैयार करने के लिए संबंधित तहसील कार्यालय के आपूर्ति विभाग से संपर्क कर आवेदन  कर योजना का लाभ प्राप्त करें. ऐसी अपील जिलाधीश खवले ने की है.