खुली नालियां से दुर्घटनाओं का खतरा, नप प्रशासन कर रहा अनदेखी

    गोंदिया. बारिश से पूर्व मार्ग निर्माण विभाग द्वारा शहर के अनेक मार्गों की दुरुस्ती न किए जाने से मार्गों पर पड़े बड़े गड‍्ढों ने परेशानी बढ़ा दी है. अब बारिश में इन गड‍्ढों में पानी भर जाने से वाहन चालक दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं. उसी प्रकार नप प्रशासन द्वारा नालियों की ओर ध्यान नहीं दिया गया.

    मार्ग में जगह-जगह खुली नालियां व गड‍्ढे लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रहे हैं. बारिश की शुरुआत से पूर्व नप प्रशासन द्वारा नालियों व नालों की सफाई पर ध्यान दिया जाना जरुरी है. अनेक स्थानों पर नालियों को खुला छोड़ा गया है. मार्ग के बीच बनी ये नालियां खुली रहने से लोग प्रतिदिन गिर रहे है. दुपहिया चालक दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं. 

    मौसमी बीमारियां फैलने का डर

    शहर के अधिकांश क्षेत्रों में नालियों की यही स्थिति है. कहीं पर नालियों में कचरा जमा होने से पानी निकासी नहीं हो रही है. लोगों को बदबू का सामना करना पड़ रहा है. कोरोना संक्रमण के बीच साफ-सफाई के अभाव में बीमारियां भी फैल सकती है. इस समय जिले में डेंगू, मलेरिया ने भी दस्तक दे दी है.

    इस स्थिति में नालियों की सफाई आवश्यक है. एक ओर नप की लापरवाही से नालियां कचरे से भरी हुई है. वहीं दूसरी ओर नालियों को खुला छोड़कर लोगों के सामने मुसीबत खड़ी कर दी है. अब बारिश का मौसम शुरु हो गया है. इस स्थिति में मार्ग के गड‍्ढे जानलेवा साबित हो सकते हैं. वाहन चालक व पैदल चलने वाले लोग दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं. उसी प्रकार अंडरग्राउंड मार्ग पर बने गड‍्ढों की वजह से वाहन चालकों को आवागमन में बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.