India may suffer loss on foreign trade front due to prolonged sluggishness-SBI report
File Pic

देवरी. भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में प्रबंधक ने पैसे का भुगतान करने पर भी समय पर डिमांड ड्राफ्ट नहीं बनाकर ग्राहक को ही धमकाने का मामला सामने आया हैं. ग्राहक ने बैंक के नागपुर स्थित विभागीय कार्यालय में शिकायत की है.

राष्ट्रीयकृत भारतीय स्टेट बैंक में जनता बहुद्देशीय संस्था की ओर से संचालित डा. बाबासाहब आंबेडकर महाविद्यालय सुरतोली-लोहारा का खाता है. जिससे खातेदार संस्था के संचालक राजकुमार मडामे ने डीडी के लिए 24 अगस्त को 3150 रुपये , 2821 रुपये व 750 रुपये के धनादेश दिए. इसी दिन डीडी देना जरुरी था, किंतु बैंक प्रबंधक ने 24 से 30 अगस्त तक डिमांड ड्राफ्ट नहीं देकर टालमटोल किया. इसके बाद 31 अगस्त को डिमांड ड्राफ्ट दिया.

इस संदर्भ में ग्राहक ने पूछताछ की तो प्रबंधक ने असभ्य व्यवहार कर खातेदार को बैंक से बाहर निकालने की धमकी देकर अपमानित किया. इसमें बैंक की लापरवाही से शिक्षण संस्था चालक को विलंब से ड्राफ्ट मिलने पर नागपुर विद्यापीठ ने 7,000 रुपये का अतिरिक्त शुल्क महाविद्यालय को भुगतान करने के लिए कहा है. इसकी शिकायत खातेदार राजकुमार मडामे ने विभागीय अधिकारी से की है. उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व तत्कालीन विधायक संजय पुराम ने भी बैंक की कार्यशैली को लेकर प्रबंधक की खिंचाई की थी.