Passing school van, do not take insurance installment, drivers and owners request

गोंदिया. 23 नवंबर से कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक की शालाएं व महाविद्यालय शुरू हो गए है. स्कूल बस शुरू करने की ओर प्रशासन का ध्यान नहीं है. घर से स्कूल व स्कूल से घर तक विद्यार्थियों को पहुंचाने मानव विकास के माध्यम से जिले को 56 बसें शासन से प्राप्त हुई है. इन दिनों स्कूल तो शुरू है, किंतु 56 में से एक भी स्कूल बस शुरू नहीं है. जिससे विद्यार्थी स्कूल तक कैसे पहुंचेंगे.

मानव विकास कार्यक्रम के तहत रापनि के गोंदिया डिपो को 28, तिरोड़ा डिपो को 7 व साकोली डिपो को 21 स्कूल बसें विद्यार्थियों के आवागमन के लिए दी गई है. लगभग 10,000 से अधिक विद्यार्थी बसों के माध्यम से घर से स्कूल व स्कूल से घर तक यात्रा करते है. फिलहाल प्राथमिक व माध्यमिक स्कूल बंद है. 9 वीं से 12 वीं तक स्कूल, महाविद्यालय शुरू है. रापनि की स्कूल बसें उपलब्ध नहीं होने से विद्यार्थी स्कूल नहीं पहुंच पा रहे हैं.

8 दिनों से है बंद

डिपो प्रबंधन का कहना है कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा स्कूल बसें शुरू करने के संदर्भ में कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है. जिससे बसें फिलहाल शुरू नहीं है. गोंदिया डिपो प्रबंधक के अनुसार कोरोना वायरस के चलते अधिकांश बस फेरियां विगत 8 महीने से बंद है. कुछ बस फेरियां यात्रियों की सेवा में शुरू है. स्कूल भले ही शुरू हुए हो, लेकिन शिक्षाधिकारी द्वारा स्कूल बसें शुरू करने के संदर्भ में अब तक पत्र प्राप्त नहीं हुआ है. पत्र मिलने पर बसें शुरू की जाएगी.