Coronavirus

गोंदिया. जिले में कोरोना के आंकड़ों में अभी जरूर कमी आयी है, किंतु अभी खतरा नहीं टला है. कोरोना का संकट सिर पर मंढरा रहा है. अचानक मौसम में परिवर्तन होने से फिर कोरोना परेशानी बढ़ा सकता है. इसे लेकर नागरिकों में चिंता दिखाई दे रही है. मौसम में परिवर्तन होने से नागरिकों को सर्दी, खांसी, बुखार व सिरदर्द जैसी बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है.

मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी अभियान

कोरोना वायरस का प्रभाव रोकने राज्य शासन ने मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी अभियान शुरू किया है. इसके अंतर्गत स्वास्थ्य कर्मचारी व राज्य शासन के कर्मियों ने घर-घर दस्तक देकर प्रथम चरण में 14 लाख 11 हजार 425 लोगों के स्वास्थ्य के जांच की है. इसी तरह दूसरे चरण की गत 16 अक्टूबर से शुरुआत की गई है. इस दूसरे चरण में अब तक 10 लाख 49 हजार 938 नागरिकों की जांच की गई. इसमें जांच का प्रश. 74.70 है. 

मौसम में बदलाव से समस्या

अभियान में 563 बीमार मरीजों के थ्रोट स्वैग नमूने लिए गए है. जिसमें 26 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए है. जिले के हर एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की ओपीडी से मरीजों की संख्या बढ़ती दिखाई दे रही है. कोरोना के भय से जिले में जनजीवन ठहर सा गया है. इसी में हर दिन हो रहे मौसम में परिवर्तन से बीमारियां भी बढ़ रही है. 

जिले में मिले 100 पॉजिटिव

शासकीय मेडिकल कॉलेज की प्रयोगशाला से मंगलवार को प्राप्त: रिपोर्ट में 100 पॉजिटिव मरीज पाए गए है. वहीं 130 मरीजों ने कोरोना पर मात की है. जिससे उन्हें अस्पताल से छूट्टी दे दी गई है. मंगलवार को जो 100 मरीज मिले है,उसमें गोंदिया तहसील अंतर्गत 52, तिरोड़ा 4, गोरेगांव 6, आमगांव 17, सालेकसा 6, देवरी 2, सड़क अर्जुनी 4 व अर्जुनी मोरगांव में 9 मरीजों का समावेश है. जिले में अब तक कुल 9,442 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए है. जबकि 8,484 मरीजों ने कोरोना पर मात की है.

जिले में क्रियाशील मरीजों की संख्या 836 है. इसमें से 430 क्रियाशील मरीजों का उपचार उन्हीं के घरों पर शुरू है. जिले में अब तक कोरोना काल में 122 कोरोना पीड़ित मरीजों की मृत्यु हो चुकी है. 27 अक्टूबर की रात तिरोड़ा तहसील अंतर्गत गांगला निवासी 56 वर्षीय व्यक्त की व चिचगड़ निवासी 45 वर्षीय व्यक्ति की उपचार के दौरान शासकीय मेडिकल कॉलेज में मृत्यु हो गई.