Mud, Gondia Rain

    गोंदिया. जिले में पिछले सप्ताह भर से सतत बारिश हो रही है. दिन भर धूप तपती है. शाम को कुछ स्थानों पर बारिश हाजरी लगाती है. जिससे रबी धान फसल पर बड़ा संकट निर्माण हो गया है. इसमें कटाई कर रखा धान खराब हो गया है. वहीं धान झड़ने का भय भी किसानों में है. मौसम की मार किसानों पर पिछले तीन चार वर्षों से पड़ रही है. जिले में इस बार 66 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में रबी धान की बुआई की गई है. यह धान अब निकलने की तैयारी में है. वहीं अनेक स्थानों पर कटाई शुरू हो गई है.

    लगभग 50 प्रश. धान कटाई पूर्ण हो गई है. लेकिन बेमौसम बारिश का सिलसिला शुरू है. कुछ स्थानों पर ओले गिरे हैं. जिससे कटाई कर रखा धान पाखड़ होने की संभावना है. खेत में खड़े धान झड़ने की चिंता किसानों को सता रही है. वातावरण में परिवर्तन व बारिश से फसल पर रोग निर्माण होने का भय है. पूर्व ही कोरोना से हतबल हुए किसान पुन: मौसम की मार का सामना कर रहे हैं. शासन से नुकसान हुए धान फसल के पंचनामे कर मुआवजा देने की मांग किसान कर रहे हैं.

    पुन: बारिश का संकेत

    मौसम विभाग ने जिले में पुन: तीन चार दिन बेमौसम बारिश का संकेत दिया है. जिससे किसानों में चिंता दिखाई दे रही है. इस बारिश की संभावना को ध्यान में रखकर खेतों में कटाई कर रखे धान के लिए किसान वर्ग भारी जद्दोजहद कर रहा है.