Crop Damage by Rain

गोंदिया. 20 नवंबर को जिले में अचानक हुई बेमौसम बारिश ने एक बार फिर किसानों की चिंता बढ़ा दी है. दीपावली का पर्व समाप्त होते ही किसान अपने-अपने खेतों में धान फसल की कटाई करने में जुटे हुए हैं. इस बीच 20 नवंबर को दोपहर में अचानक बारिश ने दस्तक दी. जिससे किसानों की धान फसल का बड़ा नुकसान हो गया है. सालेकसा तहसील में धान का ढेर बनाकर मलनी के लिए रखी गई, जहां बारिश का पानी जमा हो गया. तिरोड़ा तहसील में 19 व 20 नवंबर की रात अचानक बारिश हुई है. जिससे किसानों पर संकट मंडराने लगा है.

देवरी तहसील में डेढ़ घंटे वर्षा

तहसील में अनेक किसानों ने धान फसल की कटाई कर रखा है, किंतु बारिश से धान का ढेर भीग गया है. इसका असर धान पर पड़ेगा. इसी तरह तुअर व सब्जी भाजी की फसल का भी नुकसान हो गया. जिला मुख्यालय में 20 नवंबर को दोपहर 4 बजे 1 घंटे तक बारिश हुई. देवरी में शाम 4 बजे के दौरान डेढ़ घंटे तक बारिश होने से तहसील में धान फसल का भारी नुकसान हो गया है. इससे किसान संकट में फंस गए है.

वहीं धान उत्पादन में घट होने की संभावना व्यक्त की जा रही है. इसी तहसील में अनेक राइस मिले हैं, किंतु बे मौसम बारिश का असर राइस मिल की मीलिंग पर भी पड़ेगा. शहर में कुछेक वैवाहिक कार्यक्रम भी आयोजित थे, किंतु अचानक बारिश के कारण उन्हें भी भारी असुविधा भुगतनी पड़ी.