Nagpur Railway Police

    गोंदिया. चलती ट्रेन से 26 लाख रुपए का माल उड़ाने वाले बिहार स्थित कुख्यात आरोपी को रेलवे पुलिस ने 8 वर्षों के बाद गिरफ्तार किया है. बिहार पटना के राम जयपाल नगर, गोला रोड़ निवासी धीरेंद्रकुमार विजेंद्रकुमार सैनी (47) आरोपी का नाम है. जानकारी के अनुसार केरल स्थित पीटी मेहनन (53) यह सहयात्री तारादेवह के साथ 19 अप्रैल 2012 को कोरबा एक्सप्रेस से जा रहे थे. इस समय उनके पास से चलती ट्रेन में आभूषण व नगद मिलाकर 25 लाख 67 हजार रुपए का माल चोरी हो गया था.

    घटना को अंजाम देने वाले आरोपी बिहार के जिला भोजपुर धकिया निवासी राजू शहा उर्फ राजू आलम मो अलाउद्दीन (27) तथा धीरेंद्रकुमार सैनी को पकड़ने के लिए 12 जुलाई 2013 को गोंदिया रेलवे पुलिस गई थी. इसमें आरोपी राजू शहा को गिरफ्तार किया गया था, लेकिन चोरी का माल हस्तगत नहीं हुआ था, जबकि दूसरा आरोपी धीरेंद्रकुमार सैनी फरार था.

    14 दिन की कस्टडी

    इसमें खास बात यह है कि उसे पुन: चोरी करते हुए गोंदिया रेलवे स्टेशन पर 21 फरवरी को पुलिस ने पकड़ा. तब वह पुराने अपराध में वांटेड है. इसकी जानकारी पुलिस को नहीं थी, लेकिन गहरी छानबीन के बाद वह पुराने अपराध का आरोपी होने की बात सामने आई. रेलवे पुलिस थाने में भादंवि की धारा 379 व 34 के तहत मामला दर्ज किया गया. इसी तरह पुलिस ने आरोपी को नागपुर न्यायालय में न्यायधीश के समक्ष पेश किया. जहां उसे 14 दिन की पुलिस हिरासत दी गई.

    इस दौरान पुलिस ने उसके पास से 10 हजार रु. जब्त किए गए हैं. जांच कर रहे पुलिस उप निरीक्षक प्रवीण भिमटे ने बताया कि चोरी का प्रकरण बहुत पुराना होने से आरोपी के पास से चोरी का माल बरामद करने में मुश्किल हो रही है. यह कार्रवाई नागपुर रेल मार्ग पुलिस अधीक्षक एम राजकुमार व पुलिस उप अधीक्षक एसवी शिंदे के मार्गदर्शन में गोंदिया रेलवे पुलिस थाने की पुलिस निरीक्षक अनीता खेड़कर, पुलिस उप निरीक्षक प्रवीण भिमटे, हेड कांस्टेबल संतोष चौबे, किशोर ईश्वर, ओमप्रकाश सोलोटे, चंद्रकांत भोयर, नंदकिशोर नारनवरे, अखिलेश राय व घरडे आदि ने की.