गुजरात में जल्द हो सकती है प्रदेश कांग्रेस प्रमुख की नियुक्ति: सूत्र

    अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) में जल्द ही नये कांग्रेस प्रमुख (Congress Chief) और प्रभारी की नियुक्ति की जा सकती है। वर्तमान में दोनों पद अमित चावड़ा के इस्तीफे और राजीव सातव (Rajiv Satav) के निधन के कारण खाली हैं। यह जानकारी मंगलवार को सूत्रों और पार्टी के एक पदाधिकारी ने दी। उन्होंने बताया कि 2022 में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और इसलिए कांग्रेस गुजरात को प्राथमिकता देना चाहती है।

    स्थानीय निकाय चुनावों में भाजपा से हारने के बाद चावड़ा और गुजरात कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) के प्रमुख प्रकाश धनानी ने इस वर्ष मार्च में इस्तीफा दे दिया था। चावड़ा और धनानी को केंद्रीय नेतृत्व ने इन पदों पर नियुक्ति तक कार्य संभालते रहने के निर्देश दिए थे। गुजरात कांग्रेस के प्रभारी राजीव सातव ने गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति के नए अध्यक्ष के चयन की प्रक्रिया भी शुरू कर दी थी।

    बहरहाल, कोविड-19 के बाद की जटिलताओं के कारण पिछले महीने उनका निधन हो गया था। गुजरात कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा, ‘‘जीपीसीसी अध्यक्ष अमित चावड़ा और सीएलपी नेता परेश धनानी ने स्थानीय निकाय चुनावों में हार के बाद मार्च में अपने पदों से इस्तीफा दे दिया था।”

    उन्होंने कहा, ‘‘आलाकमान उनकी जगह नए नेताओं का ला सकता है क्योंकि अगले वर्ष चुनाव होने वाले हैं।” उन्होंने कहा कि पार्टी जल्द ही राज्य कांग्रेस प्रभारी की भी नियुक्ति करेगी। गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 में कांग्रेस ने 77 सीटों पर जीत दर्ज की थी जबकि 182 सदस्यीय सदन में भाजपा को 99 सीटें मिलीं।

    सूत्रों के मुताबिक राज्य पीसीसी अध्यक्ष के लिए नेताओं ने प्रयास तेज कर दिए हैं। आलाकमान राज्य प्रभारी की भी नियुक्ति करना चाहता है। सूत्रों ने कहा कि वरिष्ठ नेता शक्ति सिंह गोहिल, भरत सिंह सोलंकी और अर्जुन मोडवाडिया राज्य कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में शामिल हैं।

    उन्होंने बताया कि पूर्व केंद्रीय मंत्री सोलंकी पिछले दो दिनों से दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक गुजरात कांग्रेस प्रभारी के लिए अविनाश पांडेय, मोहन प्रकाश और बी के हरिप्रसाद के नामों पर विचार चल रहा है। उन्होंने कहा कि सीएलपी प्रमुख धनानी को फिलहाल बदलने की संभावना नहीं है। (एजेंसी)