GUJRAT

अहमदाबाद. गुजरात (Gujrat) के वड़ोदरा शहर में सरकारी एसएसजी (SSG) अस्पताल में शनिवार देर रात आग लग गई। इस अस्पताल में कोविड-19 मरीजों का उपचार किया जा रहा था। इस अस्पताल में एक सप्ताह के भीतर आग की यह दूसरी घटना है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि शनिवार देर रात अस्पताल के न्यूरो सर्जरी वार्ड में विद्युत कक्ष में एक चिनगारी के कारण आग लग गई लेकिन कर्मचारियों की तत्परता के कारण आग को शीघ्र बुझा लिया गया। उन्होंने बताया कि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ है। आग बुझाने के लिए अग्निशमन विभाग को नहीं बुलाया गया। अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि यह घटना इमारत के भूतल पर हुई, जिसमें पहली मंजिल पर आईसीयू वार्ड में कई मरीज हैं और कोरोना वायरस संक्रमण के नमूनों का परीक्षण करने के लिए एक प्रयोगशाला है।

एसएसजी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक रंजन अय्यर ने कहा, ‘‘यह एक मामूली आग थी। बिजली की चिनगारी के कारण फ्यूज उड़ गया, लेकिन आग पर जल्द ही काबू पा लिया गया।” अस्पताल के एक अन्य अधिकारी ने कहा, ‘‘हमने आग बुझाने वाले एक यंत्र का इस्तेमाल कर आग पर काबू पा लिया, अगर आग पर काबू नहीं पाया जाता तो स्थिति गंभीर हो सकती थी क्योंकि पहली मंजिल पर आईसीयू वार्ड में कई मरीजों की हालत गंभीर थी।”

इससे पहले मंगलवार को अस्पताल में आग लग गई थी जिसके बाद दो प्रभावित वार्डों से 35 मरीजों को स्थानांतरित किया गया था। उस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ था। इस संबंध में एक अधिकारी ने पहले कहा था कि गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) वार्ड के अंदर एक वेंटिलेटर में शॉर्ट-सर्किट के कारण आग लग गई थी जहां कोरोना वायरस के गंभीर रोगियों का इलाज किया जा रहा था।