Books Reading
Representational Pic

    -सीमा कुमारी

    कहते हैं किताबें इंसान की सबसे अच्छी दोस्त होती हैं। ये बिना कुछ मांगे हमें जिंदगी में बहुत कुछ सिखाती हैं। लेकिन, कई लोगों को किताबें पढ़ना बिल्कुल पसंद नहीं होता है। लेकिन ऐसे लोग भी हैं, जिन्हें किताब पढ़े बिना नींद नहीं आती दरअसल, किताबें पढ़ने से हमारी जानकारी तो बढ़ती ही है साथ ही सेहत को भी कई लाभ होते हैं। आइए जानें किताब पढ़ने के क्या फायदे हैं?

    • रोजाना किताब पढ़ने से एकाग्रता (concentration) शक्ति बढ़ती है। इससे दिमाग में चल रही फिजूल की बातें दूर होकर पढ़ाई पर फोकस होता है।
    • कहते हैं रोजाना किताब पढ़ने से हमारे दिल की गति (Heart rate) भी सामान्य बनी रहती है। ऐसे में अगर दिल स्वस्थ हो तो, दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा भी कम रहता है। 
    • इसमें कोई शक नहीं है  कि, किताबें इंसानों की सबसे अच्छी दोस्त होती हैं। वह इंसान का अकेलापन दूर करने में बेहद मददगार साबित होती हैं। अकेलापन दूर करने के साथ बिगड़े मूड को भी ठीक करने में मदद करती हैं।
    • एक्सपर्ट्स बताते हैं कि, रोजाना सोने से पहले 30 मिनट किताब पढ़ने से तन और मन की शुद्धि होती है। इससे दिमाग शांत होने के साथ तनाव कम होने में मदद मिलती है।
    • अनिद्रा (Insomnia) से परेशान लोगों को रोजाना सोने से पहले किताब जरूर पढ़नी चाहिए। इससे दिमाग की नसें शांत होकर अच्छी और गहरी नींद आने में मदद करती हैं। इसके लिए रोजाना सोने से पहले 1 घंटा अच्छी किताबें ज़रूर पढ़ें।
    • रोजाना किताब पढ़ने से दिमाग शांत होने के साथ ज्ञान में वृद्धि होती है। सोचने का नजरिया बदलने के साथ निर्णय देने की क्षमता बढ़ती है। व्यक्ति को अपनी जिम्मेदारियों का अहसास होता है। ऐसे में किताब हमें एक अच्छा व बेहतर इंसान बनने की प्रेरणा देती है।